Top

दिल्ली से पहले छत्तीसगढ़ में किसानों की ट्रैक्टर रैली, पुलिस ने रोका तो उड़ाया बैरीकेड

दिल्ली में ट्रैक्टर रैली से पहले छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आज यानी शनिवार को किसानों का उग्र अवतार देखने को मिला। सिंधु बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन के समर्थन में रायपुर में ट्रैक्टर रैली निकाली गई।

Ashiki Patel

Ashiki PatelBy Ashiki Patel

Published on 23 Jan 2021 1:21 PM GMT

दिल्ली से पहले छत्तीसगढ़ में किसानों की ट्रैक्टर रैली, पुलिस ने रोका तो उड़ाया बैरीकेड
X
दिल्ली से पहले छत्तीसगढ़ में किसानों की ट्रैक्टर रैली, पुलिस ने रोका तो उड़ाया बैरीकेड
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायपुर: कृषि कानून के खिलाफ दिल्ली में विरोध-प्रदर्शन कर रहे किसान 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली निकालने की तैयारी में हैं। इस बीच दिल्ली में ट्रैक्टर रैली से पहले छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आज यानी शनिवार को किसानों का उग्र अवतार देखने को मिला। सिंधु बॉर्डर पर जारी किसान आंदोलन के समर्थन में रायपुर में ट्रैक्टर रैली निकाली गई।

पुलिस के बैरीकेड पर चढ़ा दिया ट्रैक्टर

आपको बता दें कि शनिवार को अहिवारा से किसान रायपुर राजभवन जाने के लिए निकले। दोपहर के समय श्याम टॉकीज के पास पुलिस ने किसानों की रैली को रोक लिया। किसान राजभवन जाकर राज्यपाल से मिलने की जिद पर अड़े थे। पुलिस उन्हें रोक रही थी। यह बात किसानों को नागवार गुजरी। इतने में एक प्रदर्शनकारी ने ट्रैक्टर को पुलिस के बैरीकेड पर चढ़ा दिया। इसे तोड़कर सभी आगे जाने की कोशिश करने लगे। हालांकि पुलिस ने उन्हें रोक लिया ।

ये भी पढ़ें: सेना को बड़ी कामयाबी: पाकिस्तान की चाल का खुलासा, मिली एक और सुरंग

Photo-Social Media

घंटो जारी रहा हंगामा

जानकारी के मुताबिक करीब दो घंटे तक श्याम टॉकीज के पास ही किसानों का हंगामा जारी रहा। काफी समझाने के बाद किसान नेता SDM को ज्ञापन देने के लिए राजी हुए। पुलिस की कड़ी मशक्कत के बाद प्रदर्शनकारी किसान प्रशासनिक अफसरों को ज्ञापन सौंपकर वापस लौट गए। जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय संयुक्त किसान मोर्चा के आव्हान पर छत्तीसगढ़ किसान मजदूर महासंघ ने रैली निकाली थी।

कई क्षेत्रों से आए किसान

खबर मिली है कि कई इलाकों से किसान राजभवन के लिए निकले थे। किसानों का मानना है कि जब तक केंद्र सरकार कृषि कानूनों को लेकर पुख्ता कदम नहीं उठाती हम रुकने वाले नहीं हैं। शनिवार को दिल्ली में छत्तीसगढ़ से पहुंचे किसान नेताओं ने मुख्य आंदोलन के बीच भूख हड़ताल भी किया।

ये भी पढ़ें: किसान ने 75 साल की उम्र में सिन्धु बॉर्डर पर की आत्महत्या, पूरी बात जानकर रो पड़ेंगे

Ashiki Patel

Ashiki Patel

Next Story