×

गिरफ्तार होंगे टिकैत? गाजीपुर बॉर्डर पर आधी रात कटी बिजली, पुलिस फोर्स तैनात

पूर्वी दिल्ली की सीमा पर किसान आंदोलन का केंद्र बने गाजीपुर बॉर्डर इलाके में बुधवार देर रात बिजली काट दी गई है। साथ ही अचानक से भारी संख्या में पुलिस और आरपीएफ की तैनाती भी देखी गई।

Ashiki

AshikiBy Ashiki

Published on 28 Jan 2021 3:13 AM GMT

गिरफ्तार होंगे टिकैत? गाजीपुर बॉर्डर पर आधी रात कटी बिजली, पुलिस फोर्स तैनात
X
गिरफ्तार होंगे टिकैत? गाजीपुर बॉर्डर पर आधी रात कटी बिजली, पुलिस फोर्स तैनात
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्‍ली: गणतंत्र दिवस के मौके पर निकाली गई किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान मचे बवाल और हिंसा के बाद बुधवार देर रात गाजीपुर बॉर्डर पर अचानक तनाव की स्थित बन गई दी गई है। जानकारी के मुताबिक पूर्वी दिल्ली की सीमा पर किसान आंदोलन का केंद्र बने गाजीपुर बॉर्डर इलाके में बुधवार देर रात बिजली काट दी गई है। साथ ही अचानक से भारी संख्या में पुलिस और आरपीएफ की तैनाती भी देखी गई।

राकेत टिकैत ने लगाया ये आरोप

देर रात बिजली सप्लाई रोके जाने पर भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत का आरोप है कि प्रशासन को इस तरह की डर फैलाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि बड़ी तादाद में पुलिस बल की तैनाती और बिजली काटकर दहशत फैलाने की कोशिश हो रही है। बता दें कि इससे पहले राकेश टिकैत ने कहा था कि गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ट्रैक्टर रैली काफी सफलतापूर्वक हुई। अगर कोई घटना घटी है तो उसके लिए पुलिस प्रशासन ज़िम्मेदार रहा है।

ये भी पढ़ें: किसान नेताओं की लिस्ट जारीः पुलिस कमिश्नर का दावा, दिल्ली हिंसा में ये सब शामिल

क्या गिरफ्तार होंगे राकेश टिकैत ?

किसान आंदोलन का केंद्र बने गाजीपुर बॉर्डर पर अचानक से बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती और बिजली की सप्लाई रोके जाने के बाद इस बात की चर्चाएं तेज हो गई हैं कि भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत की गिरफ्तारी हो सकती है। बता दें कि गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के मामले में राकेश टिकैत के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज हुई। इसके अलावा राकेश टिकैत के कुछ वीडियो भी सामने आए थे जिसमें में वो लोगों को भड़काते हुए नजर आ रहे हैं। इस वजह से टिकैत समेत FIR में नामजद किसान नेताओं पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है।

रैली हिंसा के बाद कमजोर हो रहा आंदोलन?

गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा से किसान आंदोलन कमजोर पड़ता दिखाई पड़ रहा है। मालूम हो कि दो किसान संगठन अब इससे दूरी बना चुके हैं। इतना ही नहीं दिल्ली हिंसा के बाद देशभर में इसकी आलोचना हो रही है। हालांकि, टिकैत और संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा है कि किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। ट्रैक्टर रैली हिंसा के बाद प्रदर्शनकारी किसानों को पुलिस कार्रवाई की आशंका भी सता रही है।

ये भी पढ़ें: किसान यूनियन में फूट: कई संगठन आंदोलन से अलग, धरना खत्म कर लौटे घर

Ashiki

Ashiki

Next Story