Covid-19: मरीजों की बढ़ी परेशानी, नोएडा में बेड हुए फुल, नई यूनिट के लिए…

उत्तर प्रदेश के सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज नोएडा से हैं,  खबर है कि नोएडा में मरीजों के लिए बेड लगभग फुल हो गए हैं। हालांकि परेशान होने वाली बात इसलिए भी नहीं है, क्योंकि शारदा हॉस्पिटल में कोविड-19 मरीजों के लिए 100 बेड की यूनिट भी लगभग तैयार हो चुकी है।

Published by suman Published: April 1, 2020 | 10:21 am

नई दिल्ली  उत्तर प्रदेश के सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीज नोएडा से हैं,  खबर है कि नोएडा में मरीजों के लिए बेड लगभग फुल हो गए हैं। हालांकि परेशान होने वाली बात इसलिए भी नहीं है, क्योंकि शारदा हॉस्पिटल में कोविड-19 मरीजों के लिए 100 बेड की यूनिट भी लगभग तैयार हो चुकी है।

यह पढ़ें…बड़ी चेतावनी! चीन में फिर फैलेगी कोरोना महामारी, वैज्ञानिक का दावा इस महीने में…

युद्ध स्तर पर तैयारी

नोएडा में अबतक 41 केस सामने आ चुके हैं। अच्छी बात यह रही कि शनिवार से हर दिन औसतन 7 मामले सामने आ रहे थे, जबकि मंगलवार को सिर्फ तीन मामले ही सामने आए। अब दो आइसोलेशन वॉर्डों में सिर्फ 7 बेड ही खाली बचे हैं। वहीं शारदा कैंपस में 100 बेड वाली कोविड-19 यूनिट तैयार करने के लिए युद्ध स्तर पर तैयारियां चल रही हैं। वहां सिर्फ ऑक्सीजन पाइपलाइन का इंस्टालेशन बाकी है।

सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की यात्रा के दौरान, अस्पताल चलाने वाली शारदा यूनिवर्सिटी को आइसोलेशन वॉर्ड के लिए एक अलग ऑक्सीजन पाइपलाइन इंस्टॉल करने के लिए कहा गया था।  यहां, हम जल्द से जल्द काम पूरा करने की कोशिश कर रहे हैं। ऑक्सीजन पाइपलाइन को छोड़कर सबकुछ हो गया है। एक बार ऑक्सीजन पाइपलाइन इंस्टॉल हो जाए, फिर हम गुरुवार से मरीजों को ले सकते हैं।

यह पढ़ें…HIV की नहीं, ये दवा कोरोना मरीजों पर असरदार: स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा

बता दें कि कोविद -19 मरीजों के लिए जिले में दो अस्पताल हैं, जिनमें प्रत्येक में 20 बेड हैं। ग्रेटर नोएडा के गवर्नमेंट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (जीआईएमएस) और नोएडा के सेक्टर 30 में स्थित चाइल्ड पीजीआई (एसएसपीएचपीजीटीआई) में कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है। जीआईएमएस में 18 बेड फुल हैं जबकि चाइल्ड पीजीआई में 15 बेड फुल हैं। इनमें अगले दो दिन तक जीआईएमएस किसी मरीज को एडमिट नहीं कर सकता है।