Top

लद्दाख तनाव: भारत और चीन में बातचीत, इन मुद्दों पर होगी चर्चा

सोमवार दोपहर करीब 12 बजे ईस्टर्न इलाके के चुशूल क्षेत्र में दोनों सेनाओं के बीच बातचीत होगी। मई में शुरू हुए तनाव के बाद जून में बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ था, इस बीच कई बार सैनिकों को पीछे हटाने पर चर्चा हुई, लेकिन चीन हर बार अपनी बात से मुकर गया।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 12 Oct 2020 3:15 AM GMT

लद्दाख तनाव: भारत और चीन में बातचीत, इन मुद्दों पर होगी चर्चा
X
लंबे समय के बाद एक बार फिर दोनों देशों के सैन्य अधिकारी बातचीत करेंगे। ये भारत और चीन के बीच बातचीत का सातवां राउंड होगा।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर तनाव जारी है। दोनों देशों ने सीमा पर सेनाएं तैनात कर रखी हैं। इस बीच आज लंबे समय के बाद एक बार फिर दोनों देशों के सैन्य अधिकारी बातचीत करेंगे। ये भारत और चीन के बीच बातचीत का सातवां राउंड होगा। इस बैठक में सैनिकों को पीछे हटाने पर चर्चा की जाएगी।

सोमवार दोपहर करीब 12 बजे ईस्टर्न इलाके के चुशूल क्षेत्र में दोनों सेनाओं के बीच बातचीत होगी। मई में शुरू हुए तनाव के बाद जून में बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ था, इस बीच कई बार सैनिकों को पीछे हटाने पर चर्चा हुई, लेकिन चीन हर बार अपनी बात से मुकर गया।

ये बैठक इसलिए है महत्वूर्ण

भारत और चीन के बीच सोमवार को होने वाली बैठक इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि भारत की तरफ से बात करने वाले लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह की अगुवाई में ये आखिरी बातचीत होगी। इस बैठक में विदेश मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेटरी (ईस्ट एशिया) नवीन श्रीवास्तव भी शामिल होंगे। इसके साथ ही चीन की तरफ से भी सैन्य अधिकारी के अलावा विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के भी शामिल होने की संभावना है।

India-China

ये भी पढ़ें...नागिन फेम एक्ट्रेस बनेगी मां, पति संग शेयर किया ऐसा वीडियो, देखकर कहेंगे….

इसके बाद लेफ्टिनेंट जनरल पीजीके मेनन के हाथ में बताचती जिम्मेदारी आ जाएगी। अभी तक की हुई सभी चर्चा लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने ही की थी।

सख्ती से अपनी बातों को रखेगा भारत

इस बातचीत में भारत की तरफ से मुद्दा रखा गया है कि पूरे ईस्टर्न लद्दाख के इलाके को लेकर बातचीत हो। जहां चीन की सेना तैनात है और इन्हें पीछे हटाया जाना चाहिए। हालांकि लेकिन चीन की तरफ से सिर्फ पैंगोंग लेक को लेकर बात करने की बात कही जा रही है।

ये भी पढ़ें...नेपाल-चीन की टूटी दोस्ती! जमीन कब्जाने पर फंसा ड्रैगन, अब हुआ बवाल

भारत एक बार फिर सख्ती से अपनी बातों को उठाएगा। इसके साथ ही पांच महीने पहले की स्थिति वापस लाने की बात होगी।

बता दें कि ईस्टर्न लद्दाख के आसपास करीब पचास हजार से अधिक सैनिक तैनात हैं। अप्रैल-मई के बाद लगातार यहां सैनिकों की संख्या में इजाफा हुआ है। दोनों के बीच पहले भी सैनिक पीछे हटाने पर बात हुई है, लेकिन अबतक उसपर अमल नहीं हो पाया।

ये भी पढ़ें...स्कूल खुलने से पहले ही बवाल: योगी सरकार-शिक्षकों में टकराव, क्या खुल पाएंगे स्कूल?

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story