Top

कानून मंत्री का कांग्रेस पर गंभीर आरोप, कहा-राजीव गांधी फाउंडेशन ने चीन से लिए पैसे

भारत-चीन विवाद के बीच देश के अंदर राजनीति हल्कों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलता जा रहा है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज गुरुवार को कांग्रेस पर आरोप लगाया और कहा कि  कांग्रेस देश को भटकाने का काम कर रही है। देश हित में नहीं सोच रही है। तो पहले ये बताए

suman

sumanBy suman

Published on 25 Jun 2020 2:01 PM GMT

कानून मंत्री का कांग्रेस पर गंभीर आरोप, कहा-राजीव गांधी फाउंडेशन ने चीन से लिए पैसे
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत-चीन विवाद के बीच देश के अंदर राजनीति हल्कों में आरोप-प्रत्यारोप का दौर चलता जा रहा है। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज गुरुवार को कांग्रेस पर आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस देश को भटकाने का काम कर रही है। देश हित में नहीं सोच रही है। तो पहले ये बताए कि पार्टी के राजीव गांधी फाउंडेशन में चीन का पैसा लगा है। कुछ दस्तावेजों को दिखाकर श्री प्रसाद ने ये दावा किया कि साल 2005-2006 में राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन की फंडिंग का पैसा मिला था। उन्होंने सवाल किया कि सरकार की अनुमति के बिना जब इस तरह की फंडिंग को मंजूरी नहीं मिल सकती तो पार्टी ने कैसे चीन से पैसे ले लिए है। कानून मंत्री ने ये भी आरोप लगाए कि कांग्रेस के कार्यकाल में चीन ने भारत की जमीन पर कब्जा किया।

यह पढ़ें...भिड़ गए भाजपा के दिग्गज, कुख्यात बैरिया में तेज हुई वर्चस्व की जंग

कांग्रेस की रणनीति

रविशंकर प्रसाद ने कहा कि क्या ये सब सोची समझी रणनीति के तहत हुआ, जिसके बाद कांग्रेस की सरकार में भारत और चीन के बीच व्यापारीय घाटा तैंतीस गुना बढ़ गया। कांग्रेस पार्टी बताएं कि आखिर चीन के प्रति इतना प्रेम क्यों था कि पार्टी के साथ एमओयू साइन हो रहे थे? राजीव गांधी फाउंडेशन को चीनी दूतावास पैसा दे रही है। भारत और चीन के बीच फ्री ट्रेड की बात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक समय कांग्रेस के राज में चीन को अपने देश का इतना बड़ा भूभाग दे दिया। चीन एम्बेसी से भी रिश्वत लेनी पड़ी। उन्होंने दावा किया कि चीन से फाउंडेशन को 90 लाख की फंडिंग की गई।

यह पढ़ें...नहीं कोरोना का डर, यहां हॉट स्पॉट में दे दिया बाजार खोलने का आदेश

आयात-निर्यात

इससे पहले बीजेपी से जुड़े सूत्रों ने जानकारी दी है कि भारत स्थित चीनी उच्चायोग, राजीव गांधी फाउंडेशन (आरजीएफ) के लिए लंबे वक्त से फंडिग करता रहा है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, राजीव गांधी फाउंडेशन की चेयरपर्सन हैं। जबकि पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी इस बोर्ड के सदस्य हैं।

खबरों के अनुसार दान देने की शुरुआत तब हुई जब राजीव गांधी फाउंडेशन ने कई सारे स्टडीज का हवाला देकर यह बताने की कोशिश की थी कि भारत और चीन के बीच फ्री ट्रेड एग्रीमेंट (एफटीए) यानी कि बिना रोक-टोक के आयात-निर्यात का होना जरूरी है। देश जानना चाहता है कि राजीव गांधी फाउंडेशन को इतना पैसा किस बात के लिए दिया गया था और उन्होंने देश में क्या स्टडी की थी, ये चाइना से फंड लेते हैं और उसके बाद वो स्टडी कराते हैं, जो देश के हित में नहीं, और ये उसके लिए वातावरण तैयार करते हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

suman

suman

Next Story