इन शर्तों के साथ हवाई यात्रा हो सकती है शुरू, रेल यात्रियों को करना पड़ेगा इंतज़ार

केंद्रीय मंत्री लॉकडाउन के फौरन बाद राहत देने के मूड में नहीं हैं। वे नहीं चाहते कि लॉकडाउन खत्‍म होने के बाद भी राज्‍यों के बीच यातायात शुरू हो। GoM ट्रेनों या पब्लिक/प्राइवेट ट्रांसपोर्ट का मूवमेंट शुरू नहीं करने के पक्ष में नहीं है। एक अधिकारी ने कहा कि मीटिंग में इसपर सहमति थी कि लॉकडाउन के फौरन बाद ट्रेन सेवा शुरू नहीं करनी चाहिए।

नई दिल्‍ली: पूरे भारत को लॉकडाउन का दूसरे फेज का आज पाचवां दिन हैं। लोग जहां तहां रहकर कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए लॉक डाउन का पालन कर रहे हैं लेकिन इसी के साथ लोगों को यातायात के संचालन का इंतेज़ार कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि धीमे-धीमे उन इलाकों से लॉकडाउन हटाया जाएगा जहां कोरोना के मामले नहीं आए हैं।

बता दें कि बीते शनिवार को ग्रुप ऑफ मिनिस्‍टर्स (GoM) की मीटिंग हुई, जिसमें रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्‍यक्षता वाले GoM ने सुझाव दिया है कि 3 मई को लॉकडाउन खत्‍म होने के बाद ‘सेफ इलाकों’ में घरेलू उड़ानें शुरू कर दी जाएं। हालांकि इस पर अंतिम फैसला गृह और नागरिक उड्डयन मंत्रालय को राज्‍यों से डेटा और फीडबैक मिलने के बाद लेना है।

सड़क यातायात और ट्रेनों का संचालन अभी नहीं होगा

GoM मीटिंग में मंत्री घरेलू उड़ानें शुरू करने पर सहमत थे। यह सेवा उन्‍हीं इलाकों में शुरू की जाएगी जहां Covid-19 के मामले नहीं आए हैं या जहां वायरस फैलने का कोई खतरा नहीं है। हालांकि केंद्रीय मंत्री लॉकडाउन के फौरन बाद राहत देने के मूड में नहीं हैं। वे नहीं चाहते कि लॉकडाउन खत्‍म होने के बाद भी राज्‍यों के बीच यातायात शुरू हो। GoM ट्रेनों या पब्लिक/प्राइवेट ट्रांसपोर्ट का मूवमेंट शुरू नहीं करने के पक्ष में नहीं है। एक अधिकारी ने कहा कि मीटिंग में इसपर सहमति थी कि लॉकडाउन के फौरन बाद ट्रेन सेवा शुरू नहीं करनी चाहिए।

ये भी देखें: कोरोना इफेक्ट: सीबीएसई कर रहा कुछ ऐसा काम, टीचर-छात्र दोनों खुश

जहां कोरोना का खतरा नहीं होगा, वहां छूट दी जा सकती है

सिंह की अध्‍यक्षता वाले GoM ने 20 अप्रैल के बाद नॉन हॉटस्‍पॉट वाले इलाकों में इकनॉमिक एक्टिविटी शुरू करने के रास्‍तों पर चर्चा की। पीएम मोदी यह घोषणा कर चुके थे कि 20 अप्रैल के बाद जहां कोरोना का खतरा नहीं होगा, वहां छूट दी जा सकती है।

GoM ने मेडिकल सुविधाओं को बूस्‍ट करने के लिए रिटायर्ड डॉक्‍टर्स और हेल्‍थ प्रोफेशनल्‍स को साथ लेने के सुझाव पर भी चर्चा की। इसके अलावा, Covid-19 हॉटस्‍पॉट्स में फाइनल ईयर के मेडिक्‍ल स्‍टूडेंट्स को तैनात करने पर भी डिस्‍कशन हुआ।

गृह मंत्रालय का कंट्रोल रूम 24×7 काम कर रहा है

गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को मंत्रालय के कंट्रोल रूम के कामकाज की समीक्षा की और राज्‍यों के हालात से रूबरू हुए। मीटिंग में दो केंद्रीय राज्‍य मंत्री- जी किशन रेड्डी और नित्‍यानंद राय भी शामिल हुए। इसमें गृह सचिव और मंत्रालय के अन्‍य अधिकारी भी मौजूद रहे। रेड्डी कोरोना पर बने GoM के भी सदस्‍य हैं। गृह मंत्रालय का कंट्रोल रूम 24×7 काम कर रहा है। वह लॉकडाउन लागू करने से जुड़े मुद्दों को लेकर राज्‍यों और विभिन्‍न मंत्रालयों से कोऑर्डिनेट करता है।

ये भी देखें: लखनऊ के लिए खतरा बने जमाती, 1 दिन में 55 पॉजिटिव में 48 बाहरी जमात के

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा 201 मौतें महाराष्ट्र में

देश में शनिवार शाम तक कोरोना संक्रमितों की संख्या 15712 तक पहुंच गई थी। अब तक 507 लोगों की मौत हुई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इस समय 15712 मामले सक्रिय हैं। मंत्रालय की ओर से बताया गया है कि देशभर से मिली सूचनाओं के मुताबिक, कोराना से हुई मौतों का आंकड़ा 507  तक पहुंच गया है।

ये भी देखें: लॉकडाउन 2: 20 अप्रैल से ये सेवाएं होंगी शुरु, देखें यहां पूरी लिस्ट

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा 201 मौतें महाराष्ट्र में हुई हैं, दूसरे पायदान पर मध्यप्रदेश है, जहां अब तक 69 लोगों की मौत होने की खबर है। मंत्रालय ने बताया कि 2,014 मरीज स्वस्थ हो गए हैं, इलाज पूरा होने के बाद उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App