फिर खौफ में दुनिया: यहां पर लगातार हो रही इसकी मौत, लोगों में फैली दहशत

कोरोना महामारी के शुरूआत से ही वायरस के इंसानी शरीर तक पहुंचने का कारण चमगादड़ों को माना जाता है। वहीं इस बीच खबर है कि मध्य प्रदेश के एक गांव में अचानक से चमगादड़ों की मौत होने से लोगों में डर का माहौल पैदा हो गया है।

बैतूल: चीन से फैले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले रखा है। महामारी के शुरूआत से ही वायरस के इंसानी शरीर तक पहुंचने का कारण चमगादड़ों को माना जाता है। वहीं इस बीच खबर है कि मध्य प्रदेश के एक गांव में अचानक से चमगादड़ों की मौत होने से लोगों में डर का माहौल पैदा हो गया है।

यह भी पढ़ें: नेपाल-चीन सीमा पर क्या कुछ हुआ है, पीएम मोदी को इसका जवाब देना चाहिए: राहुल

चमगादड़ों की मौत से लोगों में दहशत का माहौल

मध्य प्रदेश के बैतूल के भीमपुर ब्लाक में किसी अज्ञात बीमारी की चपेट में आने की वजह से कई चमगादड़ों की मौत हो गई। यहां पर दर्जनों भर चमगादड़ों की मौत से ग्रामीणों में डर का माहौल पैदा हो चुका है। हालांकि पशु चिकित्सक प्रारंभिक तौर से चमगादड़ों के मरने की वजह को तेज गर्मी से जोड़कर देख रहे हैं।

पिछले चार दिनों से हो रही चमगादड़ों की मौत

बैतूल जिले के बेहड़ा ढाना इलाके में नीलगिरी के पेड़ों पर लटके दर्जनों चमगादड़ की मौत हो गई। जिसके बाद कई चमगादड़ों के शव पेड़ों के नीचे बिखरे पड़े मिले तो कईयों के शव अब भी पेड़ों पर मृत अवस्था में लटके हुए हैं। जानकारी के मुताबिक, यह सिलसिला पिछले चार दिनों से चला आ रहा है।

यह भी पढ़ें: मौसम विभाग का अलर्ट: आसमान से निकलेगी अब आग, बढ़ेगी गर्मी

लोगं इसे कोरोना वायरस से जोड़कर देख रहे

बेहड़ा ढाना इलाके में आज सुबह ही चमगादड़ों के मरने के बाद एक ही जगह पर पड़े होने की खबर मिलने से इलाके के लोगों में दहशत का माहौल पैदा हो गया है। ग्रामीणों के मन में डर इसलिए है क्योंकि वो इसे कोरोना वायरस से जोड़कर देख रहे हैं।

पोस्टमार्टम कर सैंपल किए गए इकट्ठे

पंचायत ने इसकी सूचना वन और पशु चिकित्सा विभाग को दे दी है। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे पशु चिकित्सा दल ने चमगादड़ों का पोस्टमार्टम कर सैंपल इकट्ठे कर लिए हैं। अब सैंपल की जांच के लिए राजकीय प्रयोगशाला भोपाल भेजा जा रहा है।

यह भी पढ़ें: आंकड़ों को लेकर कांग्रेस नेताओं ने किया सीएम योगी पर जबरदस्त हमला

तेज गर्मी और हीट वेव से हो रही मौत

पशु चिकित्सक प्रारंभिक तौर से चमगादड़ों के मरने की वजह को तेज गर्मी और हीट वेव से जोड़कर देख रहे हैं। बताया जा रहा है कि मृत अवस्था में मिले चमगादड़ों के शव पूरी तरह से डिहाइड्रेट हो गए थे। इससे आशंका जताई जा रही है कि तेज गर्मी और पानी की कमी की वजह से चमगादड़ों की मौत हुई है।

जांच के बाद ही सामने आएगी असली वजह

इस मामले में पशु चिकित्सक डॉक्टर अरुणा का कहना है कि चमगादड़ों की मौत होने की सूचना मिली थी। मौके पर शवों का पोस्टमार्टम किया गया और उनका सैंपल लेकर प्रयोगशाला भेजे दिए गए हैं। ऐसी संभावना है कि गर्मी की वजह से चमगादड़ों की मौत हो रही है। सही जानकारी तो सैंपल की जांच के बाद ही सामने आ पाएगी।

यह भी पढ़ें: CM योगी का बड़ा बयान, अभी लगभग 5 लाख मजदूरों के आने की सम्भावना

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।