Top

मोबाइल में मौत का वक्त: बच्चे ने उठाया खौफनाक कदम, मिला इस हालत में

महाराष्ट्र के जलगांव शहर के तुकारामवाड़ी इलाके में एक शख्स रहता है। जहां उसके साथ उसके एक रिश्तेदार का 13 साल का बेटा भी रहता था। इस बारे में बताया जा रहा है कि 13 साल के उस बच्चे ने अपने रिश्तेदार के घर में ही फांसी लगाकर जान दे दी।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 28 Jan 2021 11:09 AM GMT

मोबाइल में मौत का वक्त: बच्चे ने उठाया खौफनाक कदम, मिला इस हालत में
X
महाराष्ट्र के जलगांव में तुकारामवाड़ी के 13 साल के एक नाबालिग मासूम बच्चे ने अपने रिश्तेदार के घर में फांसी लगा ली। जिससे उसकी मौत हो गई।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नासिक: महाराष्ट्र के जलगांव में चौका देने वाला मामला सामने आया है। यहां तुकारामवाड़ी के 13 साल के एक नाबालिग मासूम बच्चे ने अपने रिश्तेदार के घर में फांसी लगा ली। जिससे उसकी मौत हो गई। इसके बाद इस वारदात के बारे में जब सच सामने आया तो पता चला कि मौत से पहले बच्चे ने अपने मोबाइल फोन पर कुछ वेबसाइट्स खोली थीं, जिसमें वह मौत का वक्त करके सर्च कर रहा था। इस घटना के बारे में जिसने भी सुना, वो हैरान होकर अचंभे में रह गया।

ये भी पढ़ें...ट्रिपल मर्डर की वारदात से कांप उठे लोग, सिपाही, मां और बहन की गला रेतकर हत्या

घर में ही फांसी लगाकर जान दी

इस हैरान कर देने वाले मामले में मिली जानकारी के अनुसार, जलगांव शहर के तुकारामवाड़ी इलाके में एक शख्स रहता है। जहां उसके साथ उसके एक रिश्तेदार का 13 साल का बेटा भी रहता था। इस बारे में बताया जा रहा है कि 13 साल के उस बच्चे ने अपने रिश्तेदार के घर में ही फांसी लगाकर जान दे दी।

फिर मामले की जानकारी मिलते ही पूरे परिवार में हड़कंप सा मच गया। और पुलिस को सूचना दी गई। ऐसे में पुलिस के अनुसार, घटना के समय बच्चा अपने रिश्तेदार के घर में अकेला था।

THREAT फोटो-सोशल मीडिया

ये भी पढ़ें...मारा गया खतरनाक उग्रवादी: लाखों का था इनाम, ऐसे देता था खूनी वारदातों को अंजाम

खौफनाक कदम उठा लिया

आगे मामले का पता चलने के बाद परिजन उसे जलगांव सिविल अस्पताल ले गए, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। इस बारे में सब-इंस्पेक्टर विशाल सोनावने ने बताया कि जांच के दौरान पुलिस ने आत्महत्या के हर एंगल को तलाशने की कोशिश की। हमें शक है कि कुछ वेबसाइट्स के प्रभाव में आकर बच्चे ने यह खौफनाक कदम उठा लिया।

साथ ही पुलिस की जांच में ये भी सामने आया है कि मौत से कुछ देर पहले बच्चे ने अपने मोबाइल पर एक वेबसाइट खोली थी। इस वेबसाइट में किसी भी व्यक्ति की मौत का वक्त बताने का दावा किया गया था। अब ये माना जा रहा है कि बच्चे ने अपने बारे में डिटेल भरकर उस वेबसाइट पर जानकारी देखी, जिससे बाद यह घटना हुई।

जानकारी में बताया जा रहा है कि यह बच्चा करीब चार महीने पहले अपने रिश्तेदार के घर रहने आया था। ऐसे में रिश्तेदार के अनुसार, बच्चा ऑनलाइन क्लास होने का हवाला देकर अक्सर अपने स्मार्टफोन में ही लगा रहता था। वह किसी के साथ खेलने भी नहीं जाता था।

ये भी पढ़ें...यूपी: इस जिले में बिकरू कांड जैसी वारदात, हमले में दरोगा घायल, छीन ले गए पिस्टल

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story