महाराष्ट्र में कोरोना का कहर, सिर्फ एक दिन में आए इतने हजार मरीज

देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से सबसे भयावह स्थिति महाराष्‍ट्र की है। यहांष्‍ट्र में एक दिन में सबसे ज्‍यादा रिकॉर्ड केस आए हैं। राज्‍य में कोरोना वायरस से संक्रमित नए मरीजों की संख्‍या 2940 सामने आई है। नए मरीजों के साथ ही महाराष्‍ट्र में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 44 हजार के पार हो गया है।

Published by suman Published: May 22, 2020 | 10:12 pm

मुंबई देश में कोरोना वायरस के संक्रमण से सबसे भयावह स्थिति महाराष्‍ट्र की है। यहांष्‍ट्र में एक दिन में सबसे ज्‍यादा रिकॉर्ड केस आए हैं। राज्‍य में कोरोना वायरस से संक्रमित नए मरीजों की संख्‍या 2940 सामने आई है। नए मरीजों के साथ ही महाराष्‍ट्र में कुल संक्रमितों का आंकड़ा 44 हजार के पार हो गया है। राज्‍य में अब तक 1500 से ज्‍यादा मौतें हो चुकी हैं। राजधानी मुंबई में सबसे ज्‍यादा केस हैं। महानगर में आज 27 मौतें हुईं हैं और कुल संक्रमितों का आंकड़ा 27000 के पार हो गया है।

यह पढ़ें…भूत-प्रेत के चक्कर में शख्स की निर्मम हत्या, केस दर्ज न होने पर परिजनों ने उठाया ये कदम

 

राज्य में शुक्रवार को कोरोना के कुल 63 मरीजों की मौत हो गई। इस प्रकार राज्य में कोरोना से मरने वालों की संख्या अब 1517 हो गई है। अधिकारियों ने बताया कि यह लगातार छठा दिन है, जब महाराष्ट्र में दो हजार से ज्यादा मामले सामने आए हैं। अब तक राज्य में कुल 12583 मरीज ठीक हो चुके हैं और कुल 30474 ऐक्टिव केस बचे हैं। राज्य में 332777 लोगों का कोरोना टेस्ट किया जा चुका है।

पिछले 24 घंटे में मुंबई में कोरोना के 1751 मामले सामने आए और कुल 27 मरीजों की मौत हो गई। सिर्फ मुंबई में ही कोरोना के मरीजों की संख्या अब 27251 हो चुकी है। महाराष्ट्र में कोरोना से मरने वाले कुल 1517 लोगों में से 909 लोग सिर्फ मुंबई से ही हैं।

 

यह पढ़ें…मुश्किल में सोनिया गांधी: पीएम केयर्स फंड को लेकर फंसी, दो राज्यों में मुकदमा दर्ज

 

बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के अधिकारी ने बताया कि माटुंगा श्रमिक शिविर में बृहस्पतिवार शाम से 15 नए मामले सामने आए है, जिनमें एक नौ वर्षीय बच्ची भी शामिल है। एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी-बस्ती धारावी में 6.5 लाख से अधिक लोग रहते हैं । धारावी में शुक्रवार को 53 केस दर्ज किए गए हैं। बीएमसी ने बताया है कि धारावी में कोविड19 के मामले बढ़कर 1478 हो गए हैं और 57 मरीजों की आज तक जान जा चुकी है।