×

ममता ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोयला खनन में इस चीज पर जताया विरोध

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने शुक्रवार को पीएम मोदी को पत्र लिखकर कोयला खनन में 100 फीसद एफडीआई की अनुमति के फैसले का विरोध किया है। पीएम को लिखे पत्र में ममता ने कोयला खनन में 100 फीसद एफडीआई की अनुमति के फैसले पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया है

suman
Published on: 26 Jun 2020 3:38 PM GMT
ममता ने PM मोदी को लिखा पत्र, कोयला खनन में इस चीज पर जताया विरोध
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कोलकता पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने शुक्रवार को पीएम मोदी को पत्र लिखकर कोयला खनन में 100 फीसद एफडीआई की अनुमति के फैसले का विरोध किया है। पीएम को लिखे पत्र में ममता ने कोयला खनन में 100 फीसद एफडीआई की अनुमति के फैसले पर पुनर्विचार करने का अनुरोध किया है। ममता बनर्जी ने कहा कि बहुराष्ट्रीय कंपनियों के लिए कोयले में 100 फीसद एफडीआई की अनुमति देने से गलत संदेश जाएगा। यह आत्मनिर्भर भारत का खंडन करेगा और आत्मनिर्भर नीति की दृष्टि से यह सही नहीं

यह पढ़ें....कांग्रेस ने बुलाई ‘मजदूर पंचायत’, रोजगार अभियान को बताया BJP का झूठ व फरेब

ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार का विरोध करते हुए मोदी को पत्र लिखा है। इस पत्र में केंद्र सरकार के जरिए कोयला खनन में 100 फीसदी एफडीआई देने का विरोध किया गया है। कोयला खनन परियोजनाओं की तुलना में नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं में ज्यादा स्पष्ट रूप से प्रदर्शित करते हैं। उन्होंने आगे लिखा, 'मैं आपसे (प्रधानमंत्री से) अनुरोध करती हूं कि कोयला क्षेत्र में 100 फीसद एफडीआई की अनुमति देने के फैसले पर पुनर्विचार करें। साथ ही मैं कोयला मंत्रालय को सलाह देने के लिए आपके हस्तक्षेप का आग्रह करती हूं कि कोल इंडिया लिमिटेड के कोलकाता के अपने अधीनस्थ कार्यालयों को बंद करने के निर्णय के साथ आगे न बढ़े।

यह पढ़ें....सवालों के घेरे में नगर निगम का वृक्षारोपण अभियान, पार्षदों ने मांगा खर्चे का ब्योरा

हाल में प्रधानमंत्री ने कोयला खनन में 100 फीसद एफडीआई की अनुमति प्रदान करने की घोषणा की है। कोयला क्षेत्र से जुड़े कई संगठन भी इस फैसले का विरोध कर रहे हैं। इधर कई मुद्दो पर ममता बनर्जी केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ है। और रह रहकर सरकार का विरोध कर रही है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

suman

suman

Next Story