×

बुरे फंसे CM! महिला अधिकारी ने लगाया ऐसा आरोप, मचा हड़कंप, BJP नेता भी...

प्रदेश की महिला पुलिस अधिकारी ने हाईकोर्ट में मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह और बीजेपी के बड़े नेता पर ड्रग्स से जुड़े एक माफिया को लेकर दबाव बनाने का आरोप लगाया है।

Newstrack
Updated on: 17 July 2020 6:28 AM GMT
बुरे फंसे CM! महिला अधिकारी ने लगाया ऐसा आरोप, मचा हड़कंप, BJP नेता भी...
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह पर एक महिला पुलिस अधिकारी ने सनसनीखेज आरोप लगाया है। प्रदेश की महिला पुलिस अधिकारी ने हाईकोर्ट में मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह और बीजेपी के बड़े नेता पर ड्रग्स से जुड़े एक माफिया को लेकर दबाव बनाने का आरोप लगाया है।

महिला अधिकारी थोउनाओजम बृंदा प्रदेश के नारकोटिक्स एंड अफेयर्स ऑफ बॉर्डर ब्यूरो की सीनियर आॅफिसर हैं। अधिकारी का आरोप है कि सीएम बीरेन सिंह और बीजेपी नेता जून 2018 में हुई एक ड्रग रेड में पकड़े गए आरोपी के खिलाफ केस वापस लेने का दबाव बना रहे हैं। अधिकारी बृंदा ने यह आरोप इंफाल हाईकोर्ट में 13 जुलाई को जमा किए एक शपथपत्र में कही है।

एफिडेविट के मुताबिक पुलिस ने जून 2018 को हुई ड्रग रेड में करीब 28 करोड़ रुपए के नशीले पदार्थ पकड़े गए थे। इस मामले में मुख्य आरोपी लुखोसेई जू को ड्रग माफियाओं का राजा माना जाता है। जाता है। बृंदा का आरोप है कि वह राज्य में भाजपा का स्थानीय नेता है।

यह भी पढ़ें...ड्यूटी से अचानक गायब हो गया वायुसेना का जवान, बीवी ने फोन पर कही थी ये बात

बताया गया है कि पुलिस ने जून 2018 को हुई ड्रग रेड में करीब 28 करोड़ रुपए के नशीले पदार्थ बरामद किए थे। इस मामले में मुख्य आरोपी बनाए गए लुखोसेई जू को ड्रग माफियाओं का सरताज माना जाता है। नारकोटिक्स एंड अफेयर्स ऑफ बॉर्डर ब्यूरो की सीनियर आॅफिसर ने आरोप लगाया है कि वह राज्य में बीजेपी का स्थानीय नेता है।

यह भी पढ़ें...अभी-अभी पायलट को झटका: कांग्रेस ने लिया बड़ा फैसला, ये बागी विधायक निलंबित

बृंदा के कोर्ट में दिए एफिडेविट में बताया गया है कि इंफाल में 19-20 जून 2018 को उनके नेतृत्व में NAB की टीम ने ड्रग माफियाओं के खिलाफ छापेमारी की थी। इस मामले में आठ लोगों को ड्रग्स और अवैध कैश रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

यह भी पढ़ें...राज्यपाल व ममता सरकार में टकराव बढ़ा, दोनों का एक-दूसरे पर बड़ा हमला

आरोप है कि इन सभी पर आईपीसी और नारकोटिक ड्रग्स एक्ट, 1985 के तहत केस दर्ज किए गए थे। पुलिस के मुताबिक इस छापे में 4595 किलो हेरोइन पकड़ी गई थी। तो वहीं, वर्ल्ड इज योर्स नाम की नशीले पदार्थ की 2.8 लाख टैबलेट भी बरामद की गई थी। कुल मिलाकर इस छापे में 28 करोड़ 36 लाख 68 हजार रुपए के ड्रग्स पकड़ी गई थी।

पुलिस अधिकीर के इन आरोपों पर सीएम बीरेन सिंह का कहना है कि यह मामला अभी कोर्ट में है। इसलिए इस पर कोई भी टिप्पणी करना कानूनी तौर पर ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी जानते हैं कि न्यायिक प्रक्रिया में कभी कोई हस्तक्षेप नहीं कर सकता। कानून खुद अपना काम करता है और आखिर में न्याय पूरा होता है। सीएम का कहना है कि हमारी सरकार ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई जारी रखेगी। इसमें किसी भी पार्टी- फिर चाहे वो दोस्त की हो या किसी करीबी की, उसे छोड़ा नहीं जाएगा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story