किसानों से बातचीत के लिए मोदी सरकार तैयार, कृषि मंत्री ने कही इतनी बड़ी बात

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मैं सभी किसानों से आग्रह करता हूं कि सर्दी के मौसम में और कोविड के संकट में आंदोलन स्थगित करें और चर्चा का रास्ता अपनाएं। भारत सरकार उनसे चर्चा करने के लिए तैयार है।

Farmers

किसान आन्दोलन: (फोटो: सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: केंद्र सरकार के कृषि कानून के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन जारी है। अब इस बीच खबर आ रही है कि प्रदर्शनकारी किसानों से बातचीत करने के लिए मोदी सरकार तैयार हो गई है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि किसानों की समस्या पर हमने चर्चा की है और दो बार बात हुई है। कृषि मंत्री ने कहा कि एक बार अधिकारी लेवल पर और एक बार मैं खुद चर्चा में शामिल था। उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से 3 दिसंबर को पुनः चर्चा के लिए उन्हें आमंत्रित किया है।

कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि मैं सभी किसानों से आग्रह करता हूं कि सर्दी के मौसम में और कोविड के संकट में आंदोलन स्थगित करें और चर्चा का रास्ता अपनाएं। भारत सरकार उनसे चर्चा करने के लिए तैयार है। इससे पहले भी 2 चरण अपने स्तर पर, सचिव स्तर पर किसानों से वार्ता हो चुकी है। 3 दिसंबर को बातचीत के लिए किसान यूनियन को हमने आमंत्रण भेजा है। जब तक मोदी जी प्रधानमंत्री हैं तब तक किसानों का अहित नहीं हो सकता है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि मैं किसानों से अपील करता हूं कि किसान संगठन चर्चा में शामिल हों और बातचीत कर समस्या का हल निकालें।

Narendra Singh Tomar

ये भी पढ़ें…कोरोना का कहर: भारत समेत इन देशों में हो रही ये खतरनाक बीमारी, मचा हाहाकार

कृषि मंत्री ने बताया कि 3 दिसंबर को चर्चा के लिए किसान यूनियन की ओर से जो जवाब आएगा या कोई प्रस्ताव आएगा बातचीत के लिए तो उस पर हम विचार करेंगे। उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि एमएसपी अब भी है और आगे भी रहेगी। किसान चाहें तो वह तुलना कर सकते हैं कि कांग्रेस की सरकार में और मोदी सरकार में किसानों के लिए क्या हुआ है।

ये भी पढ़ें…मंदी से हिल उठा भारत: सरकार ने भी किया स्वीकार, ये हैं जीडीपी ग्रोथ के नए आंकड़े

कांग्रेस पर बोला हमला

कृषि मंत्री ने कांग्रेस पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि इस बिल पर बात करने के लिए राहुल गांधी के पास कोई नैतिक अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी झूठ बोलने में माहिर हैं। वह पहले अपनी घोषणापत्र से मुकरे फिर बात करें। उन्होंने कहा कि हमें राहुल गांधी की सलाह की आवश्यकता नहीं है। बता दें कि दिल्ली कूच कर रहे किसानों को दिल्ली में प्रदर्शन की अनुमति दे दी गई है।

ये भी पढ़ें…शर्मनाक: चाकू की नोक पर लड़की से रेप, तीन दोस्त घर के बाहर दे रहे थे पहरा

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App