Top

इनामी नक्सली ने किया सरेंडर, दूरदर्शन टीम पर हमले में था शामिल

छत्तीसगढ़ पुलिस ने दावा किया कि दूरदर्शन के कैमरापर्सन और 3 सुरक्षा बालों के हत्यारे इनामी नक्सली ने दंतेवाड़ा में पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया

Aradhya Tripathi

Aradhya TripathiBy Aradhya Tripathi

Published on 23 April 2020 12:14 PM GMT

इनामी नक्सली ने किया सरेंडर, दूरदर्शन टीम पर हमले में था शामिल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

छत्तीसगढ़ से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जिसमें छत्तीसगढ़ पुलिस ने दूरदर्शन के कैमरापर्सन पर हमला करने वाले एक लाख के इनामी नक्सली के सरेंडर करने का दावा किया है। जिसके चलते पुलिस ने उस नक्सली को एक लाख रूपए की चेक भी प्रदान कर दी। 2018 के विधानसभा चुनाव के समय हुआ था हमला। जिसमें दूरदर्शन के कैमरापर्सन समेत 3 सुरक्षा बल के जवानों की हत्या हो गई थी।

सरकार की नीतियों से प्रभावित हो कर किया सरेंडर

छत्तीसगढ़ पुलिस ने दावा किया है कि दूरदर्शन के कैमरापर्सन और 3 सुरक्षा बालों के हत्यारे नक्सली जिस पर एक लाख का इनाम था ने दंतेवाड़ा में पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। ज्ञात हो कि 2018 विधानसभा चुनाव के समय नक्सलियों ने ये हमला किया था। जिसको लेकर पुलिस का दावा है कि ये नक्सली उस हमले में शामिल था।

ये भी पढ़ें- कोरोना से विमानन कंपनियों की टूटी कमर, 40 फ़ीसदी लोगों ने कह दी ऐसी बात

पुलिस ने दावा किया कि ये नक्सली ताती लखमा नक्सलियों के मंलगीर एरिया कमेटी में सीएनएम कमांडार था। पुलिस का कहना है कि नक्सली ने अपनी अवहेलना से तंग आकर और सरकार की नीतियों से प्रभावित हो कर सरेंडर करने का फैसला लिया।

2018 विधानसभा चुनाव के समय हुआ था हमला

इनामी नक्सली ने दंतेवाड़ा एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव और सीआरपीएफ डीआईजी डीएन लाल के सामने आत्मसमर्पण किया। पुलिस ने बताया कि इस इनामी नक्सली ने 2008 में नक्सली संगठन में प्रवेश किया था। इस नक्सली के खिलाफ पुलिस रिकार्ड में वाहनों में आगजनी, हत्या, पुलिस पार्टी पर फायरिंग, ग्रामीणों को डराने और धमकी देने जैसे कई मामले दर्ज हैं। पुलिस काफी समय से इस इनामी बदमाश को तलाश कर रही थी।

ये भी पढ़ें- कोरोना के खिलाफ सबसे बड़ा विजेता: 9 महीने के संक्रमित बच्चे ने 6 दिनों में जीती जंग

गौरतलब है कि 2018 के विधानसभा चुनाव के समय दंतेवाड़ा जिले के निलवाया इलाके में कवरेज करने गई दूरदर्शन की टीम पर नक्सलियों की टीम ने हमला कर दिया था। उस समय दूरदर्शन की टीम के साथ सुरक्षा बल के जवान भी थे। नक्सलियों द्वारा किए गए हमले में दूरदर्शन के कैमरा पर्सन समेत 3 सुरक्षा बल के जवानों की मौके पर ही मौत हो गई थी। अब पुलिस का मनना है कि ये इनामी नक्सली भी उस हमले में शामिल था।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story