फांसी की रस्सी तैयार! निर्भया के दोषियों की उल्टी गिनती शुरू

दरअसल, देश भर में फांसी देने के लिए रस्सी की आपूर्ति बक्सर जेल से ही की जाती है। बक्सर जेल के सुप्रिटेंडेंट विजय कुमार अरोड़ा ने बताया कि उनके सीनियर ने मनीला रोप तैयार करने को कहा है। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें नहीं मालूम कि यह किसके लिए बनाया जा रहा है।

नई दिल्ली: हैदराबाद और उन्नाव में हुए रेप की घटना के बाद ​2012 में हुए निर्भया रेप केस के हत्यारों को फांसी की सजा की मांग तेज हो गई है। वहीं सरकार की रिपोर्ट के बाद गृह मंत्रालय ने निर्भया के दोषियों की दया याचिका को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भेजा है।

जानकारी के अनुसार अब अगर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद दया याचिका को खारिज करते हैं तो दोषियों को सजा के तहत फांसी दी जाएगी। इसी बीच खबर है कि बिहार की बक्सर सेंट्रल जेल में चारों आरोपियों को फांसी देने के लिए रस्सी बनाने का काम भी जोरों पर है। फांसी की रस्सी जिसे मनीला रोप भी कहा जाता है। पहले कपास मनीला से मंगाया जाता था, इसलिए इसीलिए इसको मनीला रस्सी कहा जाता था।

ये भी पढ़ें—अब इस दिन होगी निर्भया के दोषियों को फांसी! गृह मंत्रालय ने उठाया बड़ा कदम

दरअसल, देश भर में फांसी देने के लिए रस्सी की आपूर्ति बक्सर जेल से ही की जाती है। बक्सर जेल के सुप्रिटेंडेंट विजय कुमार अरोड़ा ने बताया कि उनके सीनियर ने मनीला रोप तैयार करने को कहा है। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें नहीं मालूम कि यह किसके लिए बनाया जा रहा है। वहीं माना जा रहा है कि यह रस्सी निर्भया कांड के दोषियों को ही फांसी देने के लिए तैयार की जा रही है।

मिला है 10 रस्सी बनाने का ऑर्डर

बक्सर जेल अधिकारियों ने बताया कि 10 रस्सी बनाने का ऑर्डर समय पर पूरा करने के लिए बक्सर जेल प्रशासन तत्परता से लगा हुआ है। जानकारी के अनुसार एक रस्सी बनाने में कम से कम दो दिन का वक्त लगता है। बता दें कि देश में जितने लोगों को भी फांसी दी जाती है, बक्सर जेल की रस्सी से ही दी जाती है क्योंकि यहां सजा काट रहे कुछ कैदी इस रस्सी को बनाने में एक्सपर्ट हैं।

ये भी पढ़ें—फांसी पर लटकना चाहता है निर्भया गैंगरेप का दोषी! राष्ट्रपति से की ये बड़ी मांग

अफजल गुरु की फांसी की रस्सी भी यहीं बनी थी

गौरतलब है कि संसद पर हमले के आरोपी अफजल गुरु को बक्सर से बनी रस्सी से ही फांसी दी गई थी। अफजल के लिए रस्सी बनाने वाले कुछ कैदी अभी भी बक्सर जेल में हैं। अफजल को 8 फरवरी 2013 को फांसी दी गई थी, जब रस्सी की कीमत करीब 1725 रुपये प्रति रस्सी थी।

कैसी है फांसी वाली रस्सी

अपने ही देश के कपास से बनने वाली फांसी देने वाली रस्सी की लम्बाई, जिसको फांसी होनी है उसकी लम्बाई से 16 गुणा ज्यादा होती है। इसमें 72 सौ नट की एक गांठ बनाई जाती है, 56 फीट की रस्सी बनाई जाती है।