निर्भया के दोषियों का सनकी रुप: हरकतें ऐसी की दंग रह जाएंगे आप

निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले के दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी हो चुका है और जब से ये डेथ वारंट जारी हुआ है तब से ही उनके व्यवहार में काफी बदलाव देखा जा रहा है।

Published by Shreya Published: February 21, 2020 | 2:54 pm

नई दिल्ली: निर्भया गैंगरेप और हत्या मामले के दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी हो चुका है और जब से ये डेथ वारंट जारी हुआ है तब से ही उनके व्यवहार में काफी बदलाव देखा जा रहा है। तिहाड़ जेल प्रशासन के मुताबिक, दोषी मुकेश और विनय बीते कुछ दिनों से जेल के स्टाफ के साथ हिंसक बर्ताव कर रहे हैं। मुकेश और विनय दोनों ने चेकअप के लिए पहुंचे जेल स्टाफ्स के साथ बदतमीजी की है।

छोटी-छोटी बातों पर आ रहा गुस्सा

तिहाड़ जेल प्रशासन के मुताबिक, निर्भया के दोषियों के बर्ताव में परिवर्तन हुआ है। दोषी छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा कर रहे हैं। जिसके चलते तिहाड़ जेल प्रशासन ने निर्भया के दोषियों को ऐंगर मैनेजमेंट यानि गुस्से पर नियंत्रण का पाठ पढ़ाना शुरू कर दिया है। प्रशासन की ओर से लगातार दोषियों के बर्ताव पर निगरानी रखी जा रही है।

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार लेने जा रही ये बड़ा फैसला, अब किरायेदार नहीं कर पाएंगे ऐसा..

विनय ने जेल अधिकारियों के साथ किया दुर्व्यवहार

सूत्रों के मुताबिक, जेल के स्टाफ जब दोषी विनय को खाना देने जाते हैं तो वह उनके साथ बतमीजी के साथ पेश आता है। कुछ दिन पहले उसने उन जेल अधिकारियों के साथ भी दुर्व्यवहार किया था, जो उसे जेल का नियम समझाने आए थे। वहीं इस दौरान दोषी मुकेश ने तो जेल से जुड़े किसी भी तरह के नियम का पालन करने से तक मना कर दिया था।

विनय ने कहा था- उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं

गौरतलब है कि दोषी विनय ने दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में एक याचिका दाखिल की थी, जिसमें उसने उसकी मानसिक स्थिति ठीक न होने की बात कही थी। हालांकि जब भी काउंसलरों ने विनय की जांच की, तो उसमें विनय की बातों को झूठा पाया गया। क्योंकि हर बार उसकी मानसिक स्थिति पूरी तरह से ठीक पाई गई।

यह भी पढ़ें: इस क्रिकेटर ने खेल के दुनिया में बनाया नया रिकार्ड, जानें इसके बारे में सबकुछ

एनजीओ से मांगी गई मदद

तिहाड़ जेल प्रशासन के मुताबिक, निर्भया के दोषियों के बढ़ते गुस्से को देखने के बाद एनजीओ से मदद मांगी गई है। जेल प्रशासन के मुताबिक, जेल अधिकारी लगातार निर्भया के दोषियों पर नजर बनाए हुए हैं। चारों को सामान्य खाना दिया जा रहा है, ताकि वो स्वस्थ रहें।

फांसी रुकवान के लिए अपना रहें ये पैतरे

आपको बता दें कि इससे पहले भी निर्भया के दोषी फांसी की सजा को रुकवाने के लिए अलग-अलग पैंतरे अपनाते हुए देखे जा चुके हैं। फांसी को टालने के लिए चारों ऐसी हरकतें करते आए हैं।

3 मार्च को सुबह 6 बजे दी जाएगी फांसी

निर्भया

निर्भया के चारों दोषियों के खिलाफ कोर्ट ने नया डेथ वारंट जारी कर दिया है। नए डेथ वारंट के अनुसार दोषियों को 3 मार्च को सुबह 6 बजे फांसी दी जानी है। मिली जानकारी के मुताबिक, डेथ वॉरंट का आधिकारिक आदेश तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल को भी सौंपा जा चुका है।

दोस्तोंं देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

यह भी पढ़ें: दुनिया के सबसे बड़े वैज्ञानिकों ने शिव की मूर्ति पर किया ये बड़ा दावा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App