नीतीश कुमार ने निभाई दोस्ती, अरुण जेटली की याद में किया प्रतिमा का अनावरण

राजनीतिक दल अपने सांझा फायदों या राजनीति में अपनी भूमिका को मजबूत करने के लिए एक दूसरे से जुड़ते हैं। ऐसे में कई बार उनमें आपसी मदभेद आम होते हैं, लेकिन शनिवार को भारत में अलग अलग दलों के दो दिग्गज नेताओं की मित्रता का एक दृश्य देखने को मिला।

Published by Shivani Awasthi Published: December 28, 2019 | 11:28 am
Modified: December 29, 2019 | 12:41 pm
arun jaitley

arun jaitley

पटना: राजनीतिक दल अपने सांझा फायदों या राजनीति में अपनी भूमिका को मजबूत करने के लिए एक दूसरे से जुड़ते हैं। ऐसे में कई बार उनमें आपसी मदभेद आम होते हैं, लेकिन शनिवार को भारत में अलग अलग दलों के दो दिग्गज नेताओं की मित्रता का एक दृश्य देखने को मिला। दरअसल, भाजपा के दिवंगत वरिष्ठ नेता और पूर्व केंदीय मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) को हमेशा याद किया जा सके, इसके लिए उनके एक राजनीतिक मित्र ने बड़ा कार्यक्रम किया। जेटली के वो मित्र कोई और नहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) हैं…

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शनिवार को पटना के कंकड़बाग में पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय अरुण जेटली की प्रतिमा का अनावरण किया। यह प्रतिमा जेटली की याद में नवनिर्मित पार्क में स्थापित की गयी है। बता दें कि आज अरुण जेटली की जयंती है, इसी खास मौके पर नीतीश कुमार प्रतिमा का अनावरण कर जेटली को श्रद्धांजलि दी। वहीं बिहार सरकार ने इसे राजकीय समारोह के तौर पर मनाया।

ये भी पढ़ें: भारत के नक्शे से गायब हो गया कश्मीर व लद्दाख, लोगों ने कांग्रेस पर निकाली भड़ास

कार्यक्रम में ये दिग्गज हुए शामिल

सीएम नीतीश कुमार के अलावा इस मौके पर उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद रहें। वहीं पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव और भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी उपस्थित रहें। इसके साथ ही भाजपा के तमाम प्रमुख नेताओं भी कार्नायक्रम में शिरकत की।

 

परिवार के सदस्य भी रहें मौजूद :

इतना ही नहीं इस खास अवसर के लिए स्वर्गीय जेटली की पत्नी समेत परिवार के अन्य सदस्यों के भी उपस्थित देखने को मिली। राज्य सरकार ने बकायदा उनके परिवार के सदस्यों को इस कार्यक्रम के लिए  ख़ास आमंत्रित किया था।

बता दें कि अरुण जेटली का निधन इसी साल हुआ था। उनके निधन के बाद पटना में प्रतिमा लगाए जाने की तैयारी शुरू हो गई थी। इसी कड़ी में आज उनके जन्मदिन के मौके पर प्रतिमा का अनावरण समारोह रखा गया है।

ये भी पढ़ें: अमित शाह का असली नाम नहीं जानते होंगे आप, यहां जाने कैसा है उनका परिवार

ध्यान दें कि राज्य सरकार ने पहले ही किसी भी महापुरुष की प्रतिमा शहर के किसी भी चौक-चौराहें पर स्थापित न करने की घोषणा की थी। ऐसे में अब महापुरुषों की मूर्तियों को अलग अलग पार्कों में स्थापित किया जाएगा। इसी कड़ी में बिहार सरकार ने अरुण जेटली की प्रतिमा का स्थापित करने के लिए नए पार्क का निर्माण करवाया है।

नीतीश कुमार और अरुण जेटली के रिश्ते:

अरुण जेटली और नीतीश कुमार बेहद करीब माने जाते थे। दोनों के राजनीतिक रिश्तों के अलावा पारिवारिक मित्रता भी थी। जानकारी के मुताबिक़, भाजपा में नीतीश का मजबूत स्तम्भ अरुण जेटली ही थे। उनकी वजह से ही नीतीश के भाजपा संग सौहार्द रिश्ते बने।

वहीं अरुण जेटली और नीतीश कुमार की मित्रता के कई किस्से भी राजनीतिक गलियारों में सुनने को मिलते हैं। अरुण जेटली और नीतीश कुमार के करीबी संबंधों का ही यह परिणाम है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री के निधन के 6 महीने के अंदर ही पटना में उनकी प्रतिमा बनकर तैयार हो गई है।

ये भी पढ़ें: जेल में लग रहा ‘लालू दरबार’, भाजपा ने सोरेन सरकार पर उठाये सवाल