निजामुद्दीन केस: सरकार का बड़ा फैसला, ऐसे लोगों का टूरिस्ट वीजा किया बैन

निजामुद्दीन में हुए मजहबी जलसे में शामिल कुछ लोगों की कोरोना से मौत और कई के संक्रमित होने के बाद अचानक से तबलीगी जमात सुर्खियों में आ गया है। इसी के साथ जमात के लिए विदेश से आने वालों की एक चालबाजी भी पकड़ी गई है।

Published by suman Published: March 31, 2020 | 11:12 pm

 नई दिल्ली निजामुद्दीन में हुए मजहबी जलसे में शामिल कुछ लोगों की कोरोना से मौत और कई के संक्रमित होने के बाद अचानक से तबलीगी जमात सुर्खियों में आ गया है। इसी के साथ जमात के लिए विदेश से आने वालों की एक चालबाजी भी पकड़ी गई है। निजामुद्दीन केस के बाद यह सामने आया है कि विदेश से जलसों में आने वाले तमाम जमाती टूरिस्ट वीजा पर भारत आते हैं और यहां मजहबी गतिविधियों में शामिल होते हैं। अब सरकार ने सख्त रुख अपनाते हुए तय किया है कि तबलीगी गतिविधियों के लिए विदेश से आने वालों को आगे से टूरिस्ट वीजा जारी नहीं किया जाएगा।

यह पढ़ें…मजदूरों का पलायन रोके सरकार, डर भगाने के लिए भजन-कीर्तन भी कराएं: सुप्रीम कोर्ट

टूरिस्ट वीजा

निजामुद्दीन का मामला सामने आने के बाद तबलीगी जमात के देश के बाकी मरकजों में भी विदेश से आए लोगों का पता चला है। तेलंगाना से लेकर यूपी और झारखंड तक तमाम राज्यों में कई मस्जिदों से अब तक 700 से ऊपर विदेशी पकड़े गए हैं। इनमें से ज्यादातर टूरिस्ट वीजा पर भारत आए हैं। इस खुलासे के बाद केंद्र सरकार ने स्पष्ट किया है कि टूरिस्ट वीजा पर आए वे लोग जो मिशनरी गतिविधियों में लिप्त पाए गए हैं उन्हें वीजा नियमों का उल्लंघन करने वाला माना जाएगा और उसी हिसाब से उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।निजामुद्दीन मरकज में 216 विदेशियों के अलावा लखनऊ में 13, रांची के मस्जिदों में 30, पटना के मस्जिदों में 10 विदेशी पकड़े गए हैं। झारखंड में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण का पहला मामला सामने आया। हिंदपीढ़ी में एक युवती को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। युवती मलेशिया की है और तबलीगी गतिविधियों के लिए ही भारत आई थी।

यह पढ़ें…निजामुद्दीन केस के बाद इन राज्यों की अटकीं सांसें, हर ओर मचा है हड़कंंप

सरकार का  फैसला

सरकार ने फैसला किया है कि अगर कोई विदेशी भारत आकर तबलीगी गतिविधियों में हिस्सा लेना चाहता है तो उसे टूरिस्ट वीजा नहीं जारी किया जाएगा। यह फैसला इस खुलासे के बाद लिया गया है कि 1 जनवरी से इस साल अब तक भारत के तमाम हिस्सों में तबलीगी गतिविधियों में हिस्सा लेने के लिए करीब 2100 विदेशी आए हैं। इनमें से कई को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि विदेश मंत्रालय ने अपने सभी मिशनों को सलाह दी है कि वे ऐसे लोगों को टूरिस्ट वीजा जारी करने से बचें, जो भारत में आकर तबलगी गतिविधियों में हिस्सा ले सकते हैं।