×

कोरोना पर बड़ी भविष्यवाणी: क्या आप जानते हैं ये बात? सुनकर दंग रह जाएंगे

कोरोना वायरस ने चीन में इन दिनों कोहराम मचाया हुआ है। इस वायरस की वजह से चीन में अब तक 900 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। हजारों लोग कोरोना से ग्रसित है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 11 Feb 2020 8:14 AM GMT

कोरोना पर बड़ी भविष्यवाणी: क्या आप जानते हैं ये बात? सुनकर दंग रह जाएंगे
X
कोरोना पर बड़ी भविष्यवाणी: क्या आप जानते हैं ये बात? सुनकर दंग रह जाएंगे
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: कोरोना वायरस ने चीन में इन दिनों कोहराम मचाया हुआ है। इस वायरस की वजह से चीन में अब तक 900 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। हजारों लोग कोरोना से ग्रसित है। इसी क्रम में डब्ल्यूएचओ ने चीन में हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दिया है। वहीं सोशल मीडिया पर कुछ ब्लॉगर्स हैं जिन्होंने कोरोना वायरस को नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी से जोड़ते हुए कुछ पोस्ट किए हैं।

465 साल पहले ही कोरोना वायरस को लेकर की थी भविष्यवाणी

इन ब्लॉगर्स ने माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट के जरिए दावा किया है कि फ्रांस की सरजमीं में पैदा हुए भविष्यवक्ता नास्त्रेदमस ने लगभग 465 साल पहले ही कोरोना वायरस को लेकर भविष्यवाणी की थी। ट्विटर पर एक यूजर ने लिखा है कि बाढ़, आग, और कोरोनावायरस कुछ वैसे ही संकट हैं जिसकी नास्त्रेदमस ने 465 साल पहले भविष्यवाणी की थी। वहीं एक अन्य यूजर ने लिखा कि 21वीं सदी में आने वाली महामारी ने कदम रख दिया ह। जिसकी भविष्यवाणी नास्त्रेदमस ने की थी। हम मौत के बेहद करीबी हैं।

यह भी पढ़ें: जले 14 हजार शव! सामने आया कोरोना का खौफनाक मंजर तस्वीरें देख कांप उठे लोग

यंकर महामारी के फैलने की जताई थी आशंका

इसके अलावा कुछ ऑनलाइन थियोरिस्ट्स का यह भी कहना है कि माइकल नास्त्रेदमस ने 15वीं शताब्दी में भविष्यवाणी कर एक भयंकर महामारी के फैलने की आशंका जताई थी। बता दें कि माइकल नास्त्रेदमस जो भी भविष्यवाणियां करते वो रहस्यमयी वाक्यों के रुप में मिलती हैं, जिन्हें क्वाट्रेन्स यानि चौपाई कहा जाता है। साल 1555 में पहली बार नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियां अस्तित्व में आई थीं। ऑनलाइन थियोरिस्ट्स ने दावा किया है कि नास्त्रेदमस की एक चौपाई में कोरोना वायरस जैसी महामारी फैलने का जिक्र किया गया है। इस चौपाई (2:53) में समुद्र से सटे एक शहर में भयंकर महामारी फैलने की बात कही गई है। इसमें ये भी उल्लेख है कि ये महामारी लोगों को मौत के अंजाम तक पहुंचाए बिना नहीं थमेगी।

यह भी पढ़ें: दिल्ली जीत के बाद अब इस राह पर चली AAP, केजरीवाल ने उठाया ये बड़ा कदम

क्या सच हो गई नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी

बता दें कि हुबेई प्रांत, जो कि कोरोना वायरस का प्रमुख केंद्र है, वो पूर्वी चीन का ही एक भू-भाग है। नास्त्रेदमस ने जिस शहर के बारे में अपनी भविष्यवाणी में जिक्र किया है, थियोरिस्ट्स उसे वुहान शहर ही बता रहे हैं। इस शहर में समुद्री जीवों की एक मंडी भी लगती है। नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों को मानने वाले लोगों का कहना है कि नास्त्रेदमस वहीं इंसान है, जिन्होंने 1666 में लंदन की ग्रेट फायर और 1933 में हिटलर के उदय को लेकर भविष्यवाणी की थीं।

यह भी पढ़ें: शाहीन बाग लंगर पड़ा भारी: ऐसे हुए बर्बाद कि बिक गया पूरा मकान

अपने किताब में 2020 को बताया तबाही का साल

नास्त्रेदमस ने अपनी किताब द प्रोफेसीज में करीब 500 साल पहले रोंगटे खडे करने वाली भविष्यवाणी की थी। उन्होंने अपनी किताब में साल 2020 को तबाही का साल बताया था। उनकी भविष्यवाणियों के मुताबिक, दुनिया के बड़े शहरों में गृह युद्ध जैसी स्थिति बन जाएगी। साथ ही साल 2020 में कई देशों के बीच टकराव भी बढ़ेंगे। उन्होंने इस साल तीसरे विश्व युद्ध की आशंका भी जताई थी। वहीं इस साल के शुरुआत में अमेरिका और ईरान दोनों देशों के बीच तीसरे विश्व युद्ध जैसी स्थिति बन रही थी। इसके अलावा भी पूर्व में नास्त्रेदमस की कई भविष्यवाणियों पर मुहर लग चुकी है।

यह भी पढ़ें: कहा है मनीष सिसोदिया: देख भावुक हो जाएंगे आप, रिजल्ट के बीच सामने आई तस्वीर

Shreya

Shreya

Next Story