×

अब लहसुन से होगा कोरोना का इलाज! WHO ने दी ये जानकारी

चीन में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर अब भी जारी है। इस वायरस की वजह से चीन में अब तक 800 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है, वहीं हजारों की संख्या में लोग इस वायरस से संक्रमित हैं।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 9 Feb 2020 10:59 AM GMT

अब लहसुन से होगा कोरोना का इलाज! WHO ने दी ये जानकारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: चीन में जानलेवा कोरोना वायरस का कहर अब भी जारी है। इस वायरस की वजह से चीन में अब तक 800 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है, वहीं हजारों की संख्या में लोग इस वायरस से संक्रमित हैं। वायरस इतनी तेजी से लोगों की जान ले रहा है, लेकिन अब तक डॉक्टर्स इस वायरस का तोड़ नहीं निकल पाए हैं। वहीं सोशल मीडिया पर कुछ सूत्र ऐसा कह रहे हैं कि एक घरेलु उपचार है, जिससे कोरोना का असर बेअसर हो सकता है। सूत्रों का कहना है कि लहसुन कोरोना के खतरे को कम कर सकता है।

यह भी पढ़ें: अब इस नाम से जाना जाएगा कोरोना वायरस, जानिए क्यों बदला

WHO ने बताया अभी तक नहीं मिले साक्ष्य

ऐसा कहा जा रहा है कि लहसुन में ऐसे तत्व मौजूद हैं जो कोरोना वायरस को खत्म कर सकते हैं। वहीं इन दावों को लेकर वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) ने विस्तृत जानकारी दी है। इस सवाल पर कि क्या लहसुन से कोरोना वायरस के इनफेक्शन को खत्म किया जा सकता है? WHO ने कहा कि लहसुन सेहत के लिए काफी लाभदायक होता है और इसमें कई रोगाणुरोधी गुण पाए जाते हैं। हालांकि अभी तक इस बात की सबूत नहीं मिले हैं कि लहसुन से कोरोना वायरस का उपचार हो सकता है।

यह भी पढ़ें: सारा अली खान की नानी का संजय गांधी से था अफेयर, अब ठोंका दावा

लहसुन कोरोना को करेगा बेअसर!

बता दें कि लहसुन में मैग्नीज, फाइबर, कैल्शियम, सेलेनियम, विटामिन सी, विटामिन बी-6, और कॉपर जैसे तत्व पाए जाते हैं जो इनफेक्शन में रोगियों का उपचार करने के लिए बेहद मददगार हैं। लेकिन इन अफवाहों पर ध्यान न दें कि लहसुन से कोरोना वायरस का उपचार किया जा सकता है, क्योंकि अभी तक इसके साक्ष्य नहीं मिले हैं।

शीशम का तेल कोरोना के लिए है गुणकारी?

वहीं बीच में कुछ लोग ऐसा भी बोल रहे थे कि शीशम के तेल कोरोना वायरस के लिए काफी गुणकारी है। लेकिन WHO ने इस दावे को खारिज कर दिया। WHO का कहना है कि शीशम के तेल से मालिश करने पर या शरीर पर उसके उपयोग से कोरोना वायरस को खत्म नहीं किया जा सकता।

यह भी पढ़ें: काशी में प्रियंका गांधी: मंदिर में खाया भंडारा, बताया क्या है संत रविदास का सपना

वुहान शहर के मार्केट में मिलता है 112 तरह के जानवरों का मांस

डॉक्टर्स का मानना है कि सांप जैसे समुद्री जीवों या चमगादड़ खाने की वजह से ही लोगों में कोरोना वायरस फैला है। चीन के वुहान शहर के एक बाजार में लगभग 112 तरह के जानवरों का मांस बिकता था। बता दें कि वुहान शहर को ही इस वायरस का केंद्र बताया जा रहा है।

चौंकाने वाली घटना आई सामने

कोरोना वायरस पर अभी तक नियंत्रण नहीं पाया जा सका है और इस बीच एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के हॉस्पिटल में कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों को खाने में कछुए का मांस दिया जा रहा है। जबकि डॉक्टर्स ने पहली ही समुद्री जीवों को न खाने की चेतावनी जारी की है। अस्पताल में रोगियों को खाने में कछुए का मांस देने वाला ये वीडियो सोशल मीडिया पर भी काफी वायरल हो रहा है।

यह भी पढ़ें: झुमका मिला रे… बरेली के बाजार में, 54 साल बाद पूरी हुई तलाश

Shreya

Shreya

Next Story