Top

अजित डोभाल पर बड़ा खतरा: आतंकियों ने रची ऐसी साजिश, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट

इस मामले में जम्मू के गंग्याल पुलिस स्टेशन में मलिक के खिलाफ एक एफआईआर (FIR) भी दर्ज की गई है। उसके खिलाफ यूएपी की धारा 18 और 20 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 13 Feb 2021 5:36 AM GMT

अजित डोभाल पर बड़ा खतरा: आतंकियों ने रची ऐसी साजिश, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट
X
अजित डोभाल पर बड़ा खतरा: आतंकियों ने रची ऐसी साजिश, सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजीत डोभाल (Ajit Doval) की जैश आंतकी संगठन से जुड़े आतंकी ने रेकी की थी। जिसके बाद डोभाल की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। हिदायत-उल्लाह मलिक के पास डोभाल के ऑफिस का एक रेकी वीडियो पाए जाने के बाद यह फैसला लिया गया है। बता दें कि मलिक को 6 फरवरी को अनंतनाग से गिरफ्तार किया गया था।

बीते साल की गई थी रेकी

बताया जा रहा है कि अजित डोभाल की यह रेकी बीते साल की गई थी। जानकारी के मुताबिक, कश्मीर में शोपियां के रहने वाले मलिक ने डोभाल के ऑफिस और श्रीनगर में अन्य इलाकों का वीडियो रिकॉर्ड किया था और फिर इन वीडियोज को पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं को भेजे थे। इस बात की जानकारी मिलते ही सुरक्षा एजेसियां (Security Agencies) अलर्ट पर हो गई हैं।

यह भी पढ़ें: महाभयानक हादसा: एक के बाद एक टकराए दर्जनों वाहन, एक्सप्रेसवे मची चीखें

pakistan terrorists (फोटो- सोशल मीडिया)

मलिक के खिलाफ दर्ज की गई FIR

बता दें कि इस मामले में जम्मू के गंग्याल पुलिस स्टेशन में मलिक के खिलाफ एक एफआईआर (FIR) भी दर्ज की गई है। उसके खिलाफ यूएपी की धारा 18 और 20 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि मलिक जैश के फ्रंट ग्रुप लश्कर-ए-मुस्तफा का प्रमुख है। मलिक को जम्मू कश्मीर के अनंतनाग से गिरफ्तार किया गया था। इसके साथ ही उसके पास से हथियार और विस्फोटक भी बरामद किए गए थे।

यह भी पढ़ें: Newstrack: एक क्लिक में पढ़ें आज सुबह 10 बजे की देश और दुनिया की बड़ी खबरें

आतंकी साजिश रच रहे आतंकवादी संगठन

खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन फिर से जम्मू कश्मीर में फिर से आतंक फैलाने की साजिश रच रहे हैं। एजेंसियों ने गृह मंत्रालय को बताया है कि जम्मू कश्मीर में जम्मात-ए-इस्लामी लश्कर, जैश, हिजबुल मुजाहिदीन को भारी फंड मुहैया करा रहा है। यह फंड पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के रजिए दुबई तुर्की के रास्ते मुहैया कराया जा रहा है।

जमात-ए-इस्लामी एक बार फिर से कश्मीर में आतंकवाद और पत्थरबाजी की घटनाओं को बढ़ाना चाहता है। बताया जा रहा है कि जमात-ए-इस्लामी ने नए अलगाववादियों और आतंकियों की नई भर्ती के लिए सीक्रेट मीटिंग भी की है।

यह भी पढ़ें: बीजेपी ने जारी किया व्हिप, आज लोकसभा में सभी सांसदों को मौजूद रहने का आदेश

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलो करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story