सावधान: आ रहा तूफ़ान, सरकार ने जारी किया अलर्ट

मौसम विभाग का कहना है कि 17 मई को यह चक्रवात गाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तट की तरफ बढ़ेगा।

पूरा देश वैसे ही पिछले कुछ महीनों से वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से जूझ रहा है। देश ए दिन इस वायरस ने हाहाकार मचा रखा है। ऐसे में देश में पिच्च्ले 2-3 दिनों से एक और ख़तरा मंडरा रहा है। असल में बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफ़ान अम्फान ने अब एक भायानाक्र रूप अख्तियार कर लिया है। तेजी से बढ़ रहे इस तूफ़ान के अब ओडिशा और पश्चिम बंगाल से टकराने की आशंका है। ऐसे में इस तूफ़ान को देखते हुए अब सरकारों ने इसके प्रति खुद को सावधान करने की सोच ली है। जिसके चलते ओडिशा सरकार ने 12 तटीय जिलों में अलर्ट जारी किया है।

18 मई को ले सकता है भयंकर रूप

मौसम विभाग ने पहले ही एलर्ट करते हुए बताया कि दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में दबाव का क्षेत्र बना था, जो धीरे-धीरे चक्रवात में बदलने लगा है। मौसम विभाग का कहना है कि 17 मई को यह चक्रवात गाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में पश्चिम बंगाल और उत्तरी ओडिशा के तट की तरफ बढ़ेगा। ऐसे में 18 मई को ये एक गंभीर चक्रवाती तूफ़ान के रूप में बदल में सकता है। ऐसे में मौसम विभाग ने पहले से ही लोगों को सचेत करना शुरू कर दिया है।

ये भी पढ़ें-    पीयूष गोयल का बड़ा एलान: प्रवासियों को घर पहुंचाने के लिए बनाई ये योजना

जिसके चलते मौसम विभाग ने मछुआरो को 18-20 तारिख के बीच ओडिशा और बंगाल के तटों से समंदर किनारे ना जाने की सलाह दी गई है। मौसम विभाग के अनुसार इस तूफ़ान के दौरान 115 किलोमीटर/घंटा की रफ़्तार से हवाएं चल सकती हैं। ऐसे में मौसम विभाग ने ओडिशा के कई हिस्सों में बारिश का अनुमान भी बताया है। जिसके चलते मछुआरों को समुन्दर किनारे न जाने की सलाह दी है।

ओडिशा सरकार ने की ट्रेनों को रोकने की मांग

मौसम विभाग द्वारा सचेत करने के बाद अब पूर्वी नौसेना कमान भी एलर्ट पर है। जिसके चलते विशाखापट्टनम में भारतीय नौसेना के जहाज अलर्ट मोड में हैं। जहाज़ों में अतिरिक्त गोताखोर, डॉक्टर्स और राहत सामग्री सब तैयार है। इसके अतिरिक्त, ओडिशा और पश्चिम बंगाल में बचाव और राहत प्रयासों को बढ़ाने के लिए जेमिनी बोट्स और मेडिकल टीमों के साथ बचाव दल भी तैयार हैं।

ये भी पढ़ें-   कोरोना काल में 5जी की शामत !

वहीं ओडिशा सरकार ने चक्रवाती तूफ़ान के की संभावना को देखते हुए केंद्र सरकार से ओडिशा राज्य की ओर से होकर गुजरने वाली ट्रेनों को स्थगित करने को कहा है। ओडिशा सरकार ने राज्य के तटीय इलाकों से होकर गुजरने वाली श्रमिक स्पेशल ट्रेनों को 3-4 दिन के लिए निलंबित करने की मांग की है।