पीयूष गोयल का बड़ा एलान: प्रवासियों को घर पहुंचाने के लिए बनाई ये योजना

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए बड़ा एलान किया है। उन्होंने कहा है कि भारतीय रेलवे प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए किसी भी जिले से ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेन चलाने को तैयार है।

Published by Shreya Published: May 17, 2020 | 10:20 am

नई दिल्ली: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए बड़ा एलाव किया है। उन्होंने कहा है कि भारतीय रेलवे प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए किसी भी जिले से ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेन चलाने को तैयार है। इसके लिए जिला कलैक्टर को श्रमिकों की सूची तैयार कर रेलवे को आवेदन करना होगा।

यह भी पढ़ें: इस टीवी एक्टर ने की आत्महत्या, इंडस्ट्री में शोक की लहर

पीयूष गोयल ने किया ये एलान

उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि, प्रवासी मजदूरों को बड़ी राहत पहुंचाने के उद्देश्य से भारतीय रेलवे देश के किसी भी जिले से ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेन चलाने को तैयार है। इसके लिये जिला कलैक्टर को फंसे हुए श्रमिकों के नाम, व उनके गंतव्य स्टेशन की लिस्ट तैयार कर राज्य के नोडल ऑफिसर के माध्यम से रेलवे को आवेदन करना होगा। इसी के साथ डिस्ट्रिक्ट कलैक्टर एक सूची और गंतव्य स्टेशन, रेलवे के स्टेट नोडल ऑफिसर को भी दे दें।

यह भी पढ़ें: बिहार में भीषण हादसा: खंभे से टकराई मजदूरों से भरी बस, 6 लोग गंभीर घायल

अब तक चलाई जा चुकी हैं 1150 ‘श्रमिक स्पेशल’ ट्रेनें

बता दें कि रेलवे की तरफ से अब तक 1150 श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाई जा चुकी हैं। इन स्पेशल ट्रेनों से 15 लाख से ज्यादा श्रमिकों को उनके गंत्वय तक पहुंचाया जा चुका है। वहीं एक दिन पहले रेल मंत्रालय ने राज्यों को कहा था कि रेलवे रोजाना 300 ट्रेनें चला सकता है। इसके लिए राज्यों को अपनी-अपनी तरफ से अनुमति देने की आवश्यकता है।

यह भी पढ़ें: फिर सवालों के घेरे में चीन, कोरोना वायरस के शुरुआती सैंपल नष्ट करने की बात मानी

ज्यादा से ज्यादा श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने की योजना

बता दें कि लॉकडाउन के चलते मुश्किलों का सामना कर रहे कई मजदूर अपने-अपने राज्यों के लिए पैदल ही रास्ता नाप रहे हैं। इसको ध्यान में रखते हुए रेलवे ने ज्यादा से ज्यादा श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला रहा है। लेकिन इसके लिए जरूरी है कि रेलवे को दोनों राज्यों यानि जहां मजदूरों को जाना है और जहां से वो जा रहे हैं, दोनों राज्यों की तरफ से ट्रेन चलाने के लिए कहा जाए।

यह भी पढ़ें: भारतीय सीमा पर जारी चीन की कारस्तानी, अब यहां पर देखे गए चीनी हेलीकॉप्टर

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App