IAS बनी ओम बिरला की बेटी ने तोड़ी चुप्पी, पूरे देश को दिया ये जवाब

जलि ने एक निजी टीवी चैनल से इन अफवाहों के बारे में बात की और कहा कि ट्रोलिंग के खिलाफ भी कानून होना चाहिए और ऐसी फेक न्यूज फैलाने वालों को जवाबदेह बनाना चाहिए।

Published by Shreya Published: January 22, 2021 | 6:12 pm
anjali birla

IAS बनी ओम बिरला की बेटी ने तोड़ी चुप्पी, पूरे देश को दिया ये जवाब (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की छोटी बेटी अंजलि बिरला का सिविल सर्विसेज में चयन होने के बाद से ही सोशल मीडिया पर उन्हें काफी ट्रोल किया जा रहा है। लोगों का कहना है कि अंजलि अपने पिता के पद का लाभ लेते हुए बिना पेपर दिए ही IAS बन गईं हैं और उन्हें ये जगह आरक्षित कोटे में से किसी कैंडिडेट को हटाकर दी गई है। हालांकि कई मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि ये खबरें केवल अफवाह है।

अफवाहों पर अंजलि ने तोड़ी चुप्पी

वहीं इन सबके बीच अंजलि ने एक निजी टीवी चैनल से इन अफवाहों के बारे में बात की और कहा कि ट्रोलिंग के खिलाफ भी कानून होना चाहिए और ऐसी फेक न्यूज फैलाने वालों को जवाबदेह बनाना चाहिए। उन्होंने बताया कि शुरुआत में सिविल सर्विसेस के पेपर में शामिल हुए बिना सफलता हासिल करने से संबंधित खबरों और सोशल मीडिया पोस्ट ने मुझे बहुत ज्यादा परेशान किया था। अंजलि बिरला का कहना है कि ट्रोलिंग के खिलाफ कानून बनाना चाहिए।

यह भी पढ़ें: अयोध्या विवाद पर फैसला सुनाने वाले पूर्व CJI गोगोई को मिली जेड प्लस सुरक्षा

anjali birla-om birla
(फोटो- सोशल मीडिया)

फेक न्यूज फैलाने वालों को जवाबदेह बनाना चाहिए

ऐसे लोगों की पहचान करनी चाहिए। ऐसी फेक न्यूज फैलाने वालों को जवाबदेह बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज मैं इसका शिकार बनी हूं, कल कोई और इसका शिकार बन सकता है। उन्होंने कहा कि मैंने पहले ही कोशिश में कठिन परीक्षा में सफलता हासिल कर ली है। मेरा नाम सिविल सर्विसेस मुख्‍य परीक्षा 2019 के मेरिट रोल में भी है। लेकिन सोशल मीडिया पर ऐसा दावा किया जा रहा है कि मुझे मेरे पिता की पोजिशन का लाभ मिला है और ‘बैकडोर चैनल’ से सिलेक्‍शन हुआ है।

यह भी पढ़ें: LAC पर सेना का कमाल: 72 घंटों में बनाया पुल, चीन के चलते ये उठाया कदम

om birla-anjali
(फोटो- सोशल मीडिया)

अंजलि की कामयाबी से पूरा परिवार है खुश

बता दें कि अंजिल का सिलेक्शन सिविल सर्विसेस में पहली ही बार में हो गया है। वहीं एक मीडिया एजेंसी से बात करते हुए अंजलि ने बताया कि मैं परीक्षा में सिलेक्ट होकर काफी ज्यादा खुश हूं। उन्होंने बताया कि मैं समाज के लिए कुछ करने के लिए सिविल सर्विस में शामिल होना चाहती थी। उन्होंने अपनी कामयाबी का श्रेय अपनी बड़ी बहन अकांक्षा को दिया है। अंजलि के सिलेक्शन पर उनका पूरा परिवार काफी खुश है।

यह भी पढ़ें: ओम बिरला की बेटी कैसे बिना पेपर दिए बनी IAS, जानें इसकी सच्चाई

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App