गुड न्यूज: कोरोना से जंग जीत रहे ये राज्य, केरल में आज सिर्फ एक नया मरीज

कोरोना के खिलाफ छिड़े जंग में केरल जंग जीतता दिख रहा है। इस  राज्य में बुधवार को सबसे बड़ी खबर आई, जहां सिर्फ कोविड-19 का एक मरीज आया। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि अब राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 387 हो गई है

Published by suman Published: April 15, 2020 | 10:45 pm

कोच्चि कोरोना के खिलाफ छिड़े जंग में केरल जंग जीतता दिख रहा है। इस  राज्य में बुधवार को सबसे बड़ी खबर आई, जहां सिर्फ कोविड-19 का एक मरीज आया। मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि अब राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 387 हो गई है जिनमें सिर्फ 167 में ही वायरस ऐक्टिव है जिनका इलाज चल रहा है।

बता दें कि केरल वह राज्य है जहां से देश में सबसे पहले कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई थी। 30 जनवरी को केरल के त्रिसूर में देश का पहला कोविड-19 मरीज पाया गया था। उसके बाद से राज्य में लगातार मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही थीं। केरल कोविड-19 मरीजों की लिस्ट में टॉप पर बना रहा, लेकिन आज इस लिस्ट में वह खिसकर 10वें स्थान पर है। इधर महाराष्ट्र, राजस्थान यूपी और बिहार भी इसी दिशा में प्रयासरत है।

 

यह पढ़ें…एक ही परिवार के तीन लोग मिले कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

 

संभाल रहा बिगड़े हालात
सवाल ये है कि केरल ने कोरोना के खिलाफ जंग में इतनी बड़ी कामयाबी कैसे हासिल की?  तो बता दें कि राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन की सटीक रणनीति और उसके मुताबिक ठोस कार्रवाई कर केवल बिगड़ती स्थिति को तेजी से संभाल लिया बल्कि दूसरे राज्यों के लिए भी मिसाल बन गया।
कोरोना से सबसे प्रभावित जिले कासरगोड़ केंद्र के रूप में उभरा जहां अब तक 135 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। वहां तेजी से हालात बिगड़ रहे थे, तभी मुख्यमंत्री विजयन ने तेज तर्रार आईपीएस ऑफिसर विजय सखारे को कासरगोड़ का स्पेशल ऑफिसर नियुक्त कर दिया। सखारे ने जिले में वायरस का प्रकोप रोकने के लिए चौतरफा रणनीति पर काम किया।

 

 

यह पढ़ें..PDS का लाभ नहीं उठा पा रही जनता, तुरंत राशनकार्ड जारी करे सरकार: राहुल गांधी

 

इनमें पुलिस पेट्रोलिंग बढ़ाने, संदिग्धों की गहन पड़ताल कर तुरंत आइसोलेशन में रखने, आंकड़े जुटाकर बुरी तरह प्रभावित इलाकों को सील करने से लेकर पहरेदारी बढ़ाने और कड़ी निगरानी के लिए ड्रोन की मदद लेने जैसे कदम शामिल हैं। केरल सरकार ने सुनिश्चित किया कि कोरोना के हॉटस्पॉट में लॉकडाउन का कठोरता से पालन हो। इसके लिए लोगों को जरूरत की चीजें उनके घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था की गई। नतीजा सामने है। बुधवार को जब मध्य प्रदेश में 294 मामले सामने आए तो पूरे केरल से सिर्फ एक नया मरीज सामने आया।