पद्म भूषण सम्मान मिलने पर PDP नेता ने कहा- मुझे नहीं दिया गया….

 पद्म भूषण के लिए नामित पीडीपी नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने रविवार को जम्मू  में कहा कि यह पुरस्कार मुझे नहीं, बल्कि यह जम्मू-कश्मीर के लोगों को दिया गया है।

Published by suman Published: January 26, 2020 | 8:47 pm

श्रीनगर: पद्म भूषण के लिए नामित पीडीपी नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने रविवार को जम्मू  में कहा कि यह पुरस्कार मुझे नहीं, बल्कि यह जम्मू-कश्मीर के लोगों को दिया गया है। पीडीपी (PDP ) नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने कहा कि- हम चाहते हैं कि देश कि जितनी रियासतें हैं उनके साथ-साथ और उनसे भी एक कदम आगे जम्मू-कश्मीर में तरक्की हो, यहां के लोगों के हक महफूज़ रहें और हम इस देश का हिस्सा जैसे थे उससे भी मजबूत हिस्सा बनकर रहें।

हुसैन बेग ने आगे कहा कि जम्मू कश्मीर में कभी कोई जनमत संग्रह नहीं हो सकता। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप  जम्मू कश्मीर के लिए स्वायत्तता की मांग कर रहे हैं। इसका मतलब है कि उन्होंने स्वीकार किया है कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। बेग ने कहा कि हम मांग करते हैं कि जम्मू-कश्मीर को संविधान के अनुसार सभी अधिकार दिए जाने चाहिए।

 

 

यह पढ़ें…इन कारणों से दिल्ली के 5 मेट्रो स्टेशनों पर एंट्री व एग्जिट गेट बंद, ट्वीट कर दी जानकारी

 

बता दें, गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शनिवार को पद्म पुरस्कारों की घोषणा की गई जिसमें इस साल 71वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर सात प्रमुख हस्तियों को पद्म विभूषण के लिए चुना गया है जबकि पद्मभूषण के लिए 16 और पद्मश्री के लिए 118 लोग चुने गये। पूर्व केंद्रीय मंत्रियों अरूण जेटली, सुषमा स्वराज एवं जार्ज फर्नांडीस, मुक्केबाज मैरी कॉम और मॉरीशस के पूर्व प्रधानमंत्री अनिरूद्ध जगन्नाथ समेत सात हस्तियों को शनिवार को पद्म विभूषण से सम्मानित किए जाने की घोषणा की गयी थी।

 

यह पढ़ें..लाल सलाम का नारा लगाने वाले कभी राष्ट्रध्वज का सम्मान नहीं कर सकते:एबीवीपी

 

जेटली, स्वराज, फर्नांडीस, पर्रिकर और विश्वेश तीर्थ स्वामी को मरणोपरांत पुरस्कार दिया गया है। पुरस्कार विजेताओं में 34 महिलाएं हैं। इनमें विदेशी/एनआरआई/पीओआई/ओसीआई श्रेणी से 18 लोग हैं और 12 लोगों को मरणोपरांत सम्मानित किया गया है।