बहुत बड़ा खुलासा: ISI ने रची खतरनाक साजिश, हमले के लिए ड्रोन से भेजे हथियार

पंजाब में खलिस्तानी आतंकी मॉड्यूल के बारे में बड़ा खुलासा हुआ है। राज्य के तरनतारन में पिछले दिनों हुए धमाके के बाद चल रही जांच में कई बड़े खुलासे हुए हैं। ड्रोन के जरिए हथियारों की सप्लाइ की गई थी।

नई दिल्ली: पंजाब में खलिस्तानी आतंकी मॉड्यूल के बारे में बड़ा खुलासा हुआ है। राज्य के तरनतारन में पिछले दिनों हुए धमाके के बाद चल रही जांच में कई बड़े खुलासे हुए हैं। ड्रोन के जरिए हथियारों की सप्लाइ की गई थी।

दरअसल पंजाब के तरनतारन में पिछले दिनों धमाका हुआ था। इस मामले में की जाच चल रही थी जिसमें खुलासा हुआ है पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी आईएसआई आतंकियों के जरिए 26/11 जैसे हमले कराने की तैयारी में थी। यह हमले पंजाब और आसपास के राज्यों में आतंकियों को करना था।

यह भी पढ़ें…PM मोदी, शाह और डोभाल पर आतंकी हमले की साजिश रच रहा है जैश, अलर्ट जारी

सबसे बड़ी बात है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने ड्रोन के जरिये पंजाब में AK-47 और दूसरे हथियारों को पहुंचाए थे। पंजाब पुलिस ने अपनी जांच में इस बात का दावा किया है।

पंजाब पुलिस के मुताबिक आतंकियों को आईएसआई ने इस बड़े आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए 5 एके 47 राइफल, 16 मैग्जीन और 472 कारतूस ड्रोन के जरिए भेजे गए थे।

हमले के समय लाइव आदेश देने के लिए आईएसआई के हैंडलरों ने हथियारों की खेप के साथ सैटेलाइट फोन भी भेजे थे। आईएसआई ने 10 रुपये की नकली करंसी भी ड्रोन के जरिए भारत को भेजी थी।

यह भी पढ़ें…ट्रंप ने PM मोदी को बताया ‘फादर ऑफ इंडिया’, कांग्रेस को लगी मिर्ची, कही ये बात

बात दें कि मुंबई हमले के दौरान आतंकी कसाब और पाकिस्तान से आए उसके साथी आतंकियों ने मुंबई के सीएसटी स्टेशन पर हमला किया था।

पंजाब पुलिस धमाका मामले में तरनतारन जिले से 4 खलिस्तानी आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया था। इनके पास से भारी मात्रा में एक-47 समेत कई हथियार भी बरामद किए गए थे। इन हथियारों की सप्लाइ जीपीएस-फिटेड ड्रोन की मदद से सीमा पार से की गई है।

यह भी पढ़ें…PM मोदी को मिला ग्लोबल गोलकीपर अवॉर्ड, जानें किसे और क्यों मिलता है ये पुरस्कार

इसके बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से आग्रह किया है कि वह इस ड्रोन समस्या का जल्द से जल्द समाधान निकालें।

उन्होंने कहा कि मैं अमित शाह जी से आग्रह करता हूं कि इस ड्रोन समस्या से जल्दी निपटा जाए। तो वहीं डीजीपी दिनकर गुप्ता ने भी इस बात की पुष्टि की है कि हथियार ड्रोन की मदद से पाकिस्तान से डिलिवर किए गए थे।