पाकिस्तान-भारत के करोड़ों रुपए कर रहा बर्बाद, तबाह हो रही अंधाधुंध फसल

पाकिस्तान वैसे तो अपनी नापाक हरकतों के लिए प्रसिध्द है, ऐसे में पाकिस्तान से आए टिड्डियों के दल ने देश की परेशानी को और बढ़ा दिया है। वहीं राजधानी जयपुर में टिड्डियों के हमले ने इस साल लाखों हेक्टेयर में फैली फसलों को बर्बाद कर दिया है।

 नई दिल्ली: पाकिस्तान वैसे तो अपनी नापाक हरकतों के लिए प्रसिध्द है, ऐसे में पाकिस्तान से आए टिड्डियों के दल ने देश की परेशानी को और बढ़ा दिया है। वहीं राजधानी जयपुर में टिड्डियों के हमले ने इस साल लाखों हेक्टेयर में फैली फसलों को बर्बाद कर दिया है। जिससे किसानों का हाल बेहाल हो गया है। महामारी के संकट ने पहले ही कम परेशानी दी थी और अब टिड्डियों के झुंड ने उसे दोगुना कर दिया है।

ये भी पढ़ें…बहुत जरूरी ये नियम: विदेशी यात्री जान लें इसे, करना होगा गाइडलाइन का पालन

500000 हेक्टेयर भूमि में फैली फसलों को नष्ट

पाकिस्तान से आई इन टिड्डियों ने जयपुर को भी नहीं छोड़ा। जयपुर में सोमवार को लाखों की तादात में टिड्डों को झुंड में देखा गया, जिससे लोग बेहद परेशान हैं। हज़ारों मील की दूरी तय करने वाले ये टिड्डे सऊदी अरब – पाकिस्तान के रास्ते जयपुर पहुंचे हैं।

आए इन टिड्डियों के दल ने पहले ही पश्चिमी और पूर्वी राजस्थान में कम से कम 500000 हेक्टेयर भूमि में फैली फसलों को नष्ट कर दिया है। टिड्डियों के बड़े तादात में हमले से श्री गंगानगर, जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर, जोधपुर, चूरू, नागौर, अजमेर, जयपुर और दौसा जैसे जिले बुरी तरह प्रभावित हुए हैं।

12 जिले इनसे बुरी तरह प्रभावित

बता दें, टिड्डियों ने पहले ही पिछले तीन महीनों में सैकड़ों हेक्टेयर भूमि पर लगी फसलों को तबाह कर दिया है। पश्चिमी राजस्थान के श्री गंगानगर, बीकानेर और बाड़मेर जिलों में इस साल रबी फसलों से भरे हरे-भरे खेतों को बड़े पैमाने पर नुकसान पहुंचाया है। राजस्थान के 12 जिले इनसे बुरी तरह प्रभावित हैं।

ये भी पढ़ें…शुरू हुई Jiomart सर्विस: मिल रहा भारी डिस्काउंट, अब Whatsapp से भी मंगा सकते सामान

टिड्डियों के प्रभाव को बेअसर करने के लिए रसायनों का छिड़काव भी किया गया था, जिसमें कृषि मंत्रालय के अधिकारी भी शामिल थे। लेकिन इससे कोई बहुत ज्यादा फायदा नहीं हो रहा है। राजस्थान में काफी समय के बाद खूब फसल हुई थी, लेकिन इन दुश्मन टिड्डियों ने सब नष्ट कर दिया।

अंदाजे के अनुसार, बीते 11 महीनों में पाकिस्तान से पश्चिमी राजस्थान में आए इन टिड्डियों के बड़े पैमाने पर हमले के कारण गेहूं और अन्य रबी फसलों को नुकसान पहुंचा है। वहीं तीन लाख हेक्टेयर में फसलों को नुकसान पहुंचा है।

गेहूं और मटर की पूरी फसल बर्बाद

इसके साथ ही अनूपगढ़ में 25 बीघा जमीन के मालिक जसकरन सिंह ने बताया कि, इस साल के शुरुआत में इन टिड्डियों की वजह से गेहूं और मटर की पूरी फसल बर्बाद हो गई।

आगे उन्होंने कहा, “मैंने मां अमरजीत कौर के नाम पर 900000 रुपये का कर्ज लिया था, लेकिन अब फसल नष्ट हो गई है, मुझे नहीं पता कि कर्ज कैसे चुकाऊंगा।” मालिक जसकरन चाहते हैं कि सरकार उनके नुकसान की भरपाई करे।

कई विशेषज्ञों में बताया कि तीव्र ध्वनि करते हुए टिड्डी दल को नुकसान करने से बचाया जाए। टिड्डी दल के मूवमेंट पर सतत दृष्टि बनाए रखें।

ये भी पढ़ें…दरकार है नये इतिहास-लेखन की