Top

इमरान खान आएंगे भारत! होगी बड़ी बैठक, PM मोदी रहेंगे मौजूद

इस साल के आखिर तक शंघाई सहयोग संगठन (SCO) समिट होनी है। इस समिट की मेजबानी भारत करेगा। इसके लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भारत आने का न्योता भेजा जाएगा।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 15 Jan 2020 10:12 AM GMT

इमरान खान आएंगे भारत! होगी बड़ी बैठक, PM मोदी रहेंगे मौजूद
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: इस साल के आखिर तक शंघाई सहयोग संगठन (SCO) समिट होनी है। इस समिट की मेजबानी भारत करेगा। इसके लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भारत आने का न्योता भेजा जाएगा। सदस्य देश के राष्ट्राध्यक्ष होने की वजह से मोदी सरकार इमरान खान को भी इस समिट में शामिल होने के लिए न्योता भेजेगी।

बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच बातचीत बंद होने के बाद यह पहला ऐसा मौका होगा, जब इमरान खान और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी एक कार्यक्रम में साथ दिख सकते हैं। आमतौर पर SCO समिट सरकारों के प्रमुखों की मीटिंग में विदेश मंत्री हिस्सा लेते हैं, लेकिन कुछ देशों के प्रधानमंत्री भी इसमें शामिल होते हैं।

भारत की बात करें तो उसकी तरफ से सरकारों के प्रमुखों की बैठक में विदेश मंत्री हिस्सा लेते हैं, जबकि SCO राष्ट्रप्रमुखों की मीटिंग में प्रधानमंत्री शामिल होते हैं, क्योंकि पाकिस्तान भी SCO का सदस्य है, ऐसे में यह देखना होगा कि उसकी तरफ से कौन भारत आता है।

यह भी पढ़ें...अभी-अभी खूंखार आतंकी ढेर, गोलियों से भून दिया भारतीय सेना ने

SCO क्या है

SCO का गठन औपचारिक तौर पर 2001 में हुआ। इसकी स्थापना चीन, रूस, कजाकस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान ने मिलकर की। इस संगठन का मकसद आतंकवाद को रोकना और आर्थिक व सांस्कृतिक सहयोग को बढ़ावा देना था। भारत और पाकिस्तान को इस संगठन में काफी देरी से प्रवेश मिला।

यह भी पढ़ें...निर्भया के दोषियों को मिला वक्त, 22 जनवरी को नहीं होगी फांसी

साल 2017 में भारत और पाकिस्तान दोनों ही देशों को एक साथ इस संगठन के सदस्यों में शामिल किया। हालांकि, इससे पहले 2005 से ही भारत SCO में ऑब्जर्वर के तौर पर शामिल होता रहा है।

जून 2019 में बिश्केक में हुए SCO समिट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शामिल हुए थे और उन्होंने यहां आतंकवाद के मामले पर एकजुट होने की अपील की थी।

यह भी पढ़ें...खुशखबरी: जम्मू कश्मीर में इंटरनेट सेवा बहाल, इतने दिन कर सकेंगे इस्तेमाल

पीएम मोदी ने अपने भाषण में सदस्यों देशों से आह्वान किया था कि आतंकवाद के मुद्दे पर इंटरनेशनल कांफ्रेंस बुलानी होगी और आतंकवाद का सफाया करने के लिए सबको एक साथ आने की जरूरत है।

इस साल SCO समिट के लिए भारत को मौका मिला है। हाल ही में SCO के महासचिव व्लादिमीर नोरोव भारत दौरे पर थे, जिन्होंने समिट की तैयारियों का जायजा लिया।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story