पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव को दोबारा काउंसलर एक्सेस देने से किया इनकार

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) के फैसले के आगे झुकते हुए दो सितंबर को पाकिस्तान ने पहली बार जाधव को राजनयिक पहुंच दी थी। जिसके बाद एक शीर्ष भारतीय राजनयिक की जाधव से किसी अज्ञात स्थान पर करीब एक घंटे तक मुलाकात हुई थी।

नई दिल्ली: पाकिस्तान ने गुरुवार  को भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव का दूसरा काउंसलर एक्सेस देने से इनकार कर दिया।

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने एक बयान जारी कर यह सूचना दी। बयान में कहा गया कि कुलभूषण जाधव का दूसरा काउंसलर एक्सेस नहीं दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान के मूंह पर UN का जोरदार तमाचा, इस मांग पर कहा- भारत कहेगा तो…

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय अदालत (आईसीजे) के फैसले के आगे झुकते हुए दो सितंबर को पाकिस्तान ने पहली बार जाधव को राजनयिक पहुंच दी थी। जिसके बाद एक शीर्ष भारतीय राजनयिक की जाधव से किसी अज्ञात स्थान पर करीब एक घंटे तक मुलाकात हुई थी।

पहली बार दी गई राजनयिक पहुंच में जाधव से मुलाकात इस्लामाबाद में स्थित पाक विदेश मंत्रालय के मुख्य भवन में होनी थी। मगर, ऐन वक्त पर पाक ने मिलने के स्थान को बदल दिया था।

जगह के बारे में सुरक्षा कारणों का हवाला देकर कोई जानकारी नहीं दी गई। भारत की मांग के मुताबिक राजनयिक पहुंच की इजाजत बिना किसी शर्त के दी गई थी। पूरी प्रक्रिया में सीसीटीवी का भी इस्तेमाल किया गया।

ये भी पढ़ें…LoC पर हमले की साजिश: पाकिस्तान बना रहा खतरनाक प्लान, हाई अलर्ट पर सेना

मां और पत्नी से मुलाकात के दौरान भी कराई थी कड़ी निगरानी

25 दिसंबर, 2017 को जाधव से उनकी मां और पत्नी ने मुलाकात भी कड़ी निगरानी में शीशे की दीवार के पीछे कराई गई थी, जिसके चलते पाक की काफी फजीहत हुई थी। उस दौरान भी पाक ने झूठी और मनगढ़ंत कहानी रची थी।

उल्लेखनीय है कि जाधव को कथित जासूसी के आरोप में पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने मौत की सजा सुनाई है। इसके खिलाफ भारतीय पक्ष ने अंतरराष्ट्रीय अदालत में अपील की थी, जहां भारत को कामयाबी मिली।

अदालत ने साफ कर दिया था कि जाधव को न्यायिक सुविधा मिलनी चाहिए और पाकिस्तान इससे इनकार नहीं कर सकता है।

ये भी पढ़ें…इमरान की खुली पोल! मंत्रियों ने सरेआम पाकिस्तान की हरकत का किया खुलासा