Parliament Live: वित्त मंत्री ने पेश किया संशोधन विधेयक, राज्यसभा में पास

संसद में मॉनसून सत्र का आज छठा दिन हैं। आज राज्यसभा में मोदी सरकार प्रमुख सुधार विधेयकों को पेश कर सकती है। वित्त मंत्री सीतारमण ने संशोधन विधेयक पेश किया।

Published by Shivani Awasthi Published: September 19, 2020 | 10:35 am
Modified: September 19, 2020 | 12:49 pm
parliament-monsoon-session-2020-day-6 updates reform bills amendments

मॉनसून सत्र का छठा दिन (photo Social media)

नई दिल्ली: संसद में मॉनसून सत्र का आज छठा दिन हैं। मोदी सरकार के कृषि सम्बन्धी बिल को लेकर सदन में हंगामा मचा हुआ है, इस बीच आज राज्यसभा में मोदी सरकार प्रमुख सुधार विधेयकों को पेश कर सकती है। इसी कड़ी में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिवाला और दिवालियापन कोड, 2016 में संशोधन के लिए विधेयक पेश किया।

मॉनसून सत्र Live

डॉ. हर्षवर्धन ने महामारी रोग संशोधन विधेयक को पेश किया

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने राज्यसभा में महामारी रोग संशोधन विधेयक, 2020 को चर्चा के लिए सदन मे विचार के लिए पेश किया। इस दौरान उन्होने कहा, ‘कोविड-19 से जुड़े कलंक के कारण, कई स्वास्थ्यकर्मियों जिसमें डॉक्टरों, पैरामेडिक्स शामिल हैं, उनका किसी न किसी रूप में अपमान किया गया। केंद्र सरकार ने इस स्थिति पर कार्रवाई की और पाया कि इस तरह की घटनाओं के खिलाफ एक कानून, एक निषेधात्मक तंत्र की आवश्यकता है।’

राज्यसभा से पास हुआ दिवाला और दिवालियापन कोड संशोधन विधेयक

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के संशोधित विधेयक पेश करने के बाद राज्यसभा ने दिवाला और दिवालियापन कोड (दूसरा संशोधन) विधेयक, 2020 को पास कर दिया है।

सीतारमण ने पेश किया संशोधन विधेयक

राज्यसभा में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिवाला और दिवालियापन कोड, 2016 में संशोधन के लिए विधेयक पेश किया।

ये भी पढ़ेंः विधायक पर हमला: बाल-बाल बची जान, पार्टी में मचा हड़कंप

parliament monsoon session 2020 day 5 agriculture-bill may proposed

राज्यसभा की कार्यवाही जारी, आज पेश होंगे सुधार विधेयक

आज मोदी सरकार प्रमुख सुधार विधेयकों को पेश कर सकती है। वहीं केंद्रीय श्रम मंत्रालय द ऑक्यूपेशनल सेफ्टी, हेल्थ एंड वर्किंग कंडीशंस कोड, 2020 पेश करेगा। इस विधेयक का उद्देश्य कारखानों और अन्य कार्यस्थलों में श्रमिकों की सुरक्षा, स्वास्थ्य और काम करने की स्थिति को विनियमित करने वाले कानूनों को समेकित और संशोधित करना है।

ये भी पढ़ेंः UP में बंपर नौकरियां: हुईं साढ़े तीन लाख से ज्यादा भर्तियां, खाली पद भरने के आदेश

अनुराग ठाकुर के इस्तीफे की मांग :

बीते दिन लोकसभा की कार्यवाही के दौरान वित्त राज्य मंत्री के बयान पर विपक्ष के सांसदों ने इस्तीफे की मांग की। विपक्षी सांसदों की ओर से की जा रही नारेजाबी के कारण लोकसभा की कार्यवाही को फिर से स्थगित कर दिया गया। हालाँकि बाद में अनुराग ठाकुर ने माफ़ी मांगी।

दरअसल, अनुराग ठाकुर सदन में पीएम केअर्स फंड का हिसाब दे रहे थे। उन्होंने गांधी परिवार का जिक्र किया और उन नामों को उजागर करने की धमकी दी, जिन्हें पीएम राष्ट्रीय राहत कोष से लाभ मिला। विपक्ष के सांसदों ने उनके इस बयान का विरोध किया। वे उनसे माफी की मांग कर रहे हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App