रिया की होगी हत्या: इस नेता ने दिया संकेत, हिल गया बॉलीवुड

राजीव रंजन ने कहा कि इस मामले में शामिल संदिग्ध कभी भी रिया चक्रवर्ती की हत्या कर सकते है। इसलिए रिया को चाहिए कि अपना बयान कोर्ट में दर्ज करवाए।”

Published by SK Gautam Published: August 3, 2020 | 6:50 pm
Modified: August 3, 2020 | 6:54 pm

पटना: सुशांत सिंह राजपूत मौत के मामले में इन्वेस्टीगेशन के लिए गए आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को बीएमसी द्वारा जबरदस्ती क्वारंटाइन करने का मामला गरमा गया है। मामले में एक तरफ जहां बिहार पुलिस ने अपनी जांच तेज कर दी है, वहीं मुंबई पुलिस के असहयोगपूर्ण रवैये के कारण बिहार की राजनीति गरमा गई है। इस बात की चारों तरफ आलोचना शुरू हो गई है। इसी बीच, इस इन्वेस्टीगेशन को लेकर जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने बड़ा बयान दिया है।

रिया चक्रवर्ती की हत्या हो सकती है- राजीव रंजन

बता दें कि जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा है कि “इस मामले में रिया चक्रवर्ती आखिरी गवाह और आरोपी भी है। पहले जिस हालात में सुशांत की मैनेजर दिशा सालयान की मौत हुई, उसके बाद मुंबई पुलिस ने पूरे मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया। दिशा के बाद, सुशांत की हत्या हुई और मामले में एकमात्र गवाह रिया चक्रवर्ती बची हुई हैं। राजीव रंजन ने कहा कि इस मामले में शामिल संदिग्ध कभी भी रिया चक्रवर्ती की हत्या कर सकते है। इसलिए रिया को चाहिए कि अपना बयान कोर्ट में दर्ज करवाए।”

ये भी देखें:  खुलेंगे जिम-योग केंद्र: जारी की गई गाइडलाइन, इनका करना होगा पालन

अधिकारी को क्वांरंटाइन करने के बाद सियासी हलकों में घमासान

आईपीएस अधिकारी को क्वांरंटाइन करने के बाद बिहार के सियासी हलकों में घमासान मचा हुआ है। बीजेपी, जेडीयू सहित तमाम विपक्षी नेताओं ने भी इसकी भर्त्सना की है। बीजेपी नेता संजय मयूख ने कहा कि मुंबई पुलिस जैसी कार्रवाई कर रही है, वह शर्मनाक है। बिहार सरकार ने ये वादा किया है कि इस मामले में चाहे कितने बड़े चेहरे क्यों ना हों, उन पर कार्रवाई होगी।

बिहार का अपमान

आरजेडी नेता मृत्युंजय तिवारी ने इसे बिहार की अस्मिता से जोड़ते हुए बताया कि यह बिहार का अपमान है। कोई भी राज्य की पुलिस ऐसा व्यवहार नही करती। बिहार के सीएम को चाहिए कि बिना देर किए सीबीआई जांच का अनुशंसा करे।

ये भी देखें:  राम मंदिर बनाने से बढ़ेगा हिंदुओं और भारत का गौरव : अजय अग्रवाल

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App