Top

70 मिनट चली ऑस्ट्रेलियाई PM संग मोदी की चर्चा, जानिए ऐसी क्या हुई बात

वर्चुअल शिखर सम्मेलन में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के बीच बैठक हुई। दोनों देशों के प्रमुखों के बीच इस बैठक का तय समय 40 मिनट था लेकिन इसे बढ़ा दिया गया

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 4 Jun 2020 5:22 PM GMT

70 मिनट चली ऑस्ट्रेलियाई PM संग मोदी की चर्चा, जानिए ऐसी क्या हुई बात
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: भारत के लिए वैश्विक स्तर पर आज काफी अहम दिन रहा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ऑस्ट्रेलियाई पीएम स्कॉट मॉरिसन के बीच ऑनलाइन माध्यम से द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा हुई। इसे चर्चा की गंभीरता कहें, या दोनों देशों के प्रमुखों के बीच की दोस्ती, कि ये बैठक तय समय को पार कर लगभग 30 मिनट ज्यादा बढ़ा दी गयी। इस दौरान दोनों देशों ने आपसी संबंधों को और मजबूत बनाने पर जोर दिया।

वर्चुअल शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी और ऑस्ट्रेलियाई पीएम स्कॉट मॉरिसन की बैठक

दरअसल, वर्चुअल शिखर सम्मेलन में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के बीच बैठक हुई। दोनों देशों के प्रमुखों के बीच इस बैठक का तय समय 40 मिनट था लेकिन इसे बढ़ा दिया गया और दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने तय से 30 मिनट ज्यादा यानी 70 मिनट तक एक दूसरे से बातचीत की।

तय समय से 30 मिनट ज्यादा की बातचीत

दोनों देशों के प्रमुखों के बीच हुई बातचीत को लेकर विदेश मंत्रालय की सचिव (ईस्ट) विजय ठाकुर ने जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मीटिंग में दोनों नेताओं ने अपनी पिछली चार मौकों पर हुई बैठकों को भी याद किया।

दोनों देशों के बीच हुए सात अहम समझौते

बता दें कि इस दौरान दोनों देशों के बीच सात अहम समझौते हुए हैं। इसमें एक-दूसरे के सैन्य ठिकानों और साजो-सामान तक पहुंच से संबंधित ऐतिहासिक समझौता भी शामिल है।

ये भी पढ़ेंः CM योगी का बड़ा आदेश, 8 जून से इन चीजों पर ध्यान देने की जरूरत

रक्षा सहयोग बढ़ाने और सैन्याभ्यास को मिलेगी मदद

पीएम मोदी और स्कॉट मॉरिसन के बीच हुए ऑनलाइन द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया कि दोनों पक्षों ने साझा रक्षा चुनौतियों का मुकाबला करने के लिए रक्षा सहयोग बढ़ाने और सैन्याभ्यास सहित अन्य गतिविधियों को बढ़ावा देने पर सहमति जताई।

इन समझौतों में एक-दूसरे को अपने सैन्य ठिकानों के इस्तेमाल की अनुमति देना भी शामिल है। इसे भारत और ऑस्ट्रेलिया के रक्षा संबंधों में एक बड़े कदम के तौर पर देखा जा रहा है।

नौसैनिक सहयोग बढ़ाने पर भी सहमति

दोनों पक्षों ने नागरिक उद्देश्यों के लिए परमाणु कार्यक्रम के मुद्दे पर भी द्विपक्षीय सहयोग की बात दोहराई और वैश्विक स्तर पर परमाणु अप्रसार को और मजबूत बनाने पर जोर दिया।

ये भी पढ़ेंः लॉकडाउन में सैलरी के मुद्दे पर सरकार का यूटर्न, अब सुप्रीम कोर्ट में कही ये बात

समुद्री सुरक्षा में भारत और ऑस्ट्रे्लिया के साझा हितों का हवाला देते हुए दोनों देशों के बीच नौसैनिक सहयोग बढ़ाने पर भी सहमति बनी है। ऑस्ट्रेेलिया ने एक बार फिर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के विस्तार और इसमें भारत की स्थाई सदस्यता को लेकर अपना समर्थन दोहराया।

भारत और ऑस्ट्रे्लिया के बीच हिंद-प्रशांत क्षेत्र में समुद्री सहयोग बढ़ाने पर भी सहमति बनी। संयुक्त बयान में कहा गया है कि दोनों देश संप्रभुता व अंतरराष्ट्रीय कानूनों का सम्मान करते हुए नियम आधारित समुद्री व्यवस्था को लेकर प्रतिबद्ध हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story