मन की बात: पीएम मोदी बोले- लड़कियां पुराने ढर्रे पर चलने को तैयार नहीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) कार्यक्रम के जरिए आज देश को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने विभिन्न मुद्दों पर जनता से बात की।

Published by Shivani Awasthi Published: February 23, 2020 | 12:38 pm
Modified: February 23, 2020 | 12:54 pm

दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) कार्यक्रम के जरिए आज देश को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने विभिन्न मुद्दों पर जनता से बात की। बता दें कि यह ‘मन की बात’ का 62वां अंक है। इससे पहले पीएम मोदी ने 26 जनवरी को मन की बात कार्यक्रम किया था।

‘मन की बात’ का 62वां अंक

प्रधानमंत्री मोदी ने मन की बात में हुनर हाट पर चर्चा की। उन्होंने कहा हुनर हाट में भाग लेने वाले कारीगरों में 50 फीसदी से अधिक महिलाएं हैं और पिछले तीन सालों में हुनर हाट के माध्यम से लगभग तीन लाख कारीगरों, शिल्पकारों को रोजगार के अनेक अवसर मिल हैं। हुनर हाट, कला के प्रदर्शन, के लिए एक मंच तो हैं ही साथ ही साथ यह लोगों के सपनों को भी पंख दे रहा है।

ये भी पढ़ें: प्रमोशन में आरक्षण पर आर-पार की लड़ाई, यहां दिख रहा ‘भारत बंद’ का असर

मेघालय की गुफाओं में नई प्रजाति की मछली की खोज:

उन्होंने कहा कि कॉप कन्वेनशन पर हो रही इस चर्चा के बीच मेरा ध्यान, मेघालय से जुड़ी एक अहम जानकारी पर भी गया। हाल ही में बायोलॉजिस्ट्स ने मछली की एक ऐसी नई प्रजाति की खोज की है, जो केवल मेघालय की गुफाओं के अन्दर पाई जाती है। माना जाता है कि यह मछली गुफाओं में जमीन के अंदर रहने वाले जल जीवों की प्रजातियों में से सबसे बड़ी हैं। पीएम ने कहा कि यग मछली ऐसी गहरी और अंधेरी, गुफाओं में रहती हैं जहां रोशनी भी शायद ही पहुंच पाती है।

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी कर रहे ‘मन की बात’, भागीरथी अम्मा समेत इन लोगों का किया जिक्र

बच्चों में विज्ञान और तकनीक के प्रति रूचि

पीएम मोदी ने देश के बच्चों और युवाओं के तकनीक के प्रति रूचि रखने को लेकर ख़ुशी जाहिर करते हुए कहा कि इन दिनों बच्चों और युवाओं में विज्ञान और तकनीक के प्रति रूचि लगातार बढ़ रही है। अंतरिक्ष में रिकॉर्ड सैटेलाइट लॉन्च, नये-नये रिकॉर्ड, नये-नये मिशन हर भारतीय को गर्व से भर देते हैं। जब मैं चंद्रयान 2 के समय बेंगलुरु में था तो मैंने देखा था कि वहां बच्चों में बहुत उत्साह है।

नींद उनकी आंखों में थी ही नहीं। एक प्रकार से वह पूरी रात जागते रहे। उनमें साइंस, तकनीक, और खोज को लेकर जो उत्सुकता थी वह हम कभी भूल नहीं सकते हैं।

विज्ञान से जोड़ने के लिए सराहनीय प्रयास:

युवाओं को विज्ञान से जोड़ने के लिए युविका, ISRO का एक बहुत ही सराहनीय प्रयास है। 2019 में कार्यक्रम स्कूली बच्चों के लिए शुरू किया गया था। युविका का मतलब है- युवा विज्ञानी कार्यक्रम. यह कार्यक्रम हमारे विजन, जय जवान, जय किसान, जय विज्ञान, जय अनुसंधान के अनुरूप है। इस प्रोग्राम में अपनी परीक्षाओं के बाद छुट्टियों में छात्र ISRO के अलग-अलग केंद्रों पर जाकर स्पेस तकनीकी, स्पेस साइंस और स्पेस अप्लिकेशन्स के बारे में सीखते हैं।

भारतीय वायुसेना के AN-32 विमान एतिहासिक:

31 जनवरी 2020 को लद्दाख़ की खूबसूरत वादियां, एक ऐतिहासिक घटना की गवाह बनी। लेह के कुशोक बाकुला रिम्पोची एयरपोर्ट से भारतीय वायुसेना के AN-32 विमान ने जब उड़ान भरी तो एक नया इतिहास बन गया। इस उड़ान में 10% इंडियन Bio-jet fuel का मिश्रण किया गया था।

Mann Ki Baat

ये भी पढ़ें: मौत का मंजर देख कांप गया बिहार: हर तरह लाशें, खतरे में 15 लोगों की जान

New India की लड़कियां पुराने ढर्रे पर चलने को तैयार नहीं

पीएम मोदी ने लडकियों को लेकर भी बात करी। उन्होंने कहा कि हमारा नया भारत अब पुराने ढर्रे के साथ चलने को तैयार नहीं है। खासौतर पर न्यू इंडिया की हमारी बहनें और माताएं तो आगे बढ़कर उन चुनौतियों को अपने हाथों में ले रही है, जिनसे पूरे समाज में एक सकारात्मक बदलाव देखने को मिल रहा है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।