काशी में बोले मोदी, चुनाव नतींजों को लेकर निश्चिंत था, इसलिए चला गया केदारनाथ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की और भगवान शिव का आशीर्वाद लिया। पीएम के साथ साथ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं। तीनों नेताओं ने मंदिर में विधिवत पूजा की।

वाराणसी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की और भगवान शिव का आशीर्वाद लिया। पीएम के साथ साथ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ भी मौजूद हैं। तीनों नेताओं ने मंदिर में विधिवत पूजा की। काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना के बाद दीनदयाल हस्तकला संकुल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ कार्यकर्ता के साथ मौजूद हैं।

पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मैं भी भारतीय जनता पार्टी कार्यकर्ता होने के नाते पार्टी और कार्यकर्ता जो आदेश करते हैं उसका पालन करने का मैं भरसक प्रयास करता हूं।

उन्होंने कहा कि एक महीने पहले जब मैं यहां था, जिस आन-बान-शान के साथ काशी ने एक विश्व रूप दिखाया था, वो सिर्फ काशी या यूपी को प्रभावित करने वाला नहीं था, उसने पूरे देश को प्रभावित किया था।

पीएम मोदी ने कहा कि चुनाव परिणाम वो तो एक गणित होता है। 20वीं सदी के चुनावों के हिसाब-किताब भी गणित और अंकगणित के दायरे में चले होंगे, लेकिन 2014, 2017 और 2019 के चुनाव में देश के राजनीतिक विश्लेषकों को मानना होगा कि अर्थमैटिक के आगे भी केमिस्ट्री होती है।

पीएम ने कहा कि देश में समाज शक्ति की जो कैमिस्ट्री है। आदर्शों, संकल्पों की जो कैमिस्ट्री है वो कभी-कभी सारे गुणा-भाग को, अंक गणित को पराजित कर देती है। इस चुनाव में अंक गणित को कैमिस्ट्री ने पराजित किया है।

पारदर्शिता और परिश्रम दो ऐसी चीजें हैं, हर परसेप्शन को परास्त करने का साहस रखते हैं। आज हिंदुस्तान ने ये कर के दिखाया है। पारदर्शिता और परिश्रम का कोई विकल्प नहीं है।

यह भी पढ़ें…ब्राजील की जेल में कैदियों के बीच झड़प, 15 की मौत

पीएम ने कहा कि शायद ही कोई उम्मीदवार चुनाव के समय इतना निश्चिंत होता होगा, जितना मैं था। इस निश्चिंतता का कारण आपका परिश्रम और काशीवासियों का विश्वास था। नतीजे और मतदान दोनों समय मैं निश्चिंत था और बड़े मौज के साथ केदारनाथ में बाबा के चरणों में बैठ गया था।

पीएम ने कहा कि मैं काशी के संगठन से जुड़े लोगों का, हर कार्यकर्ता का और हर समर्थक का इस बात के लिए आभार करता हूं कि उन्होंने इस चुनाव को जय-पराजय के तराजू से नहीं तोला। उन्होंने चुनाव को लोक संपर्क, लोक संग्रह, लोक समर्पण का पर्व माना।

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में जब कार्यकर्ताओं के साथ मेरा मिलना हुआ था तो उस दिन मैंने कहा था कि यहां पर शायद नामांकन तो एक नरेन्द्र मोदी का हुआ होगा, लेकिन ये चुनाव हर घर का नरेन्द्र मोदी लड़ेगा, हर गली का नरेन्द्र मोदी लड़ेगा।

यह भी पढ़ें…पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा में 22 प्रतिशत विद्यार्थी ने नहीं हुए शामिल

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में अलग-अलग दलों के साथी और निर्दलीय साथी जो मैदान में थे, उनका भी मैं आभार व्यक्त करता हूं कि उन्होंने पूरी गरिमा के साथ काशी के चुनाव अभियान को आगे बढ़ाया। मैं सभी अन्य उम्मीदवारों का मन से अभिनंदन करता हूं।

पीएम ने कहा कि यहां की बेटियों ने जो स्कूटी यात्रा निकाली उसकी पूरे देश में और सोशल मीडिया में बड़ी चर्चा है, स्कूटी पर बैठकर हमारी बेटियों ने पूरी काशी को अपने सिर पर बैठा लिया था। इस चुनाव की सभी कसौटियों पर आप डिस्टिंक्शन मार्क्स के साथ पास हुए हैं, इसलिए आप सभी अभिनंदन के पात्र हैं।

उन्होंने कहा कि आज उत्तर प्रदेश देश की राजनीति को नई दिशा दे रहा है। 2014 हो, 2017 हो या 2019 हो, ये हैट्रिक छोटी नहीं है। उत्तर प्रदेश के गांव का गरीब व्यक्ति भी देश की सही दिशा के बारे में सोचता भी है और उस दिशा में चलता भी है।

मोदी से पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सभा को संबोधित किया। अमित शाह ने कहा कि यहां की जनता भाग्यशाली है क्योंकि मोदी यहां के जनप्रतिनिधि हैं, उनका लक्ष्य यहां का विकास करना है। उन्होंने कहा कि काशी के लिए तय हुआ था कि भाजपा के प्रत्याशी श्री नरेन्द्र मोदी जी होंगे।

यह भी पढ़ें…राम मंदिर पर बोले RSS प्रमुख मोहन भागवत, अब राम का काम हो कर रहेगा

उन्होंने कहा कि मोदी जी के नामांकन के पहले काशी दर्शन, रोड शो और गंगा आरती का कार्यक्रम था। रोड शो में जो प्रचंड जनसमर्थन दिखा तो, तभी तय हो गया था कि चुनाव परिणाम क्या आने वाला है।

शाह ने कहा कि देश के इतिहास में शायद ही कोई चुनाव ऐसा हुआ होगा, जिसमें कोई प्रत्याशी अपने नामांकन के बाद वहां की जनता पर भरोसा करके वापस आ गया होगा। आपने मोदी जी का ये भरोसा कायम रखा।

उन्होंने कहा कि मोदी जी के पिछले पांच साल के कार्यकाल में गंगा के घाट देखिए, एयरपोर्ट से काशी के रोड को देखिए, बिजली के तारों को जमीन के भीतर डालने का काम देखिए, सीवर योजना को देखिए, हर योजना में डिटेल प्लानिंग से काम किया गया है।

यह भी पढ़ें…नई मोदी सरकार में ये नेता बन सकते हैं मंत्री, जानिए इनके नाम

शाह ने कहा कि आप सभी बहुत भाग्यशाली हैं कि मोदी जी जैसे जनप्रतिनिधि काशी के कार्यकर्ताओं को मिला है। मोदी जी मणिनगर विधानसभा क्षेत्र से पहली बार विधायक बने थे और फिर मुख्यमंत्री बने। जब उन्होंने ये पद छोड़ा तब मणिनगर देश का सबसे विकसित विधानसभा क्षेत्र था।

उन्होंने कहा कि गुजरात के सीएम के रूप में जब मोदी जी ने शपथ ली तब अखबारों ने लिखा था कि मोदी जी को शासन का अनुभव नहीं है। मोदी जी ने भी सरलता से कहा था कि मुझे शासन का अनुभव नहीं है। आज विश्व ने स्वीकारा कि भारत का सबसे सफल मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी हैं।

इससे पहले इस सभा में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि चुनाव से पहले लोग महागठबंधन बनाकर बीजेपी को रोकने में लगे थे, लेकिन बीजेपी ने महाविजय हासिल की। हम पहले ही कह रहे थे मोदी है तो मुमकिन है। सीएम योगी ने कहा कि जीत ने साबित किया कि मोदी हैं तो मुमकिन है। सीएम ने कहा कि बिना भेदभाव हर योजनाओं पर काम हुआ।