Top

PM मोदी ने तोड़ दिया IPL फाइनल का भी रिकॉर्ड, आप भी जानकर हो जाएंगे हैरान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता किसी से छिपी नहीं है। विपक्षी दलों के नेता भी उनकी लोकप्रियता का लोहा मानते हैं। पीएम मोदी को टीवी पर पसंद करने वालों की भी कमी नहीं है।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 27 March 2020 4:38 PM GMT

PM मोदी ने तोड़ दिया IPL फाइनल का भी रिकॉर्ड, आप भी जानकर हो जाएंगे हैरान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता किसी से छिपी नहीं है। विपक्षी दलों के नेता भी उनकी लोकप्रियता का लोहा मानते हैं। पीएम मोदी को टीवी पर पसंद करने वालों की भी कमी नहीं है, लेकिन 24 मार्च के उनके राष्ट्र के नाम संबोधन को सुनने वालों की संख्या ने सबको हैरान कर दिया है। इस मामले में पीएम मोदी ने आईपीएल के फाइनल मुकाबले को भी पीछे छोड़ दिया है।

24 मार्च को प्रसारित हुआ था यह संबोधन

अपने 24 मार्च के संबोधन में पीएम मोदी ने 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन का ऐलान किया था। उन्होंने कोरोना वायरस के खिलाफ निर्णायक जंग के लिए देशवासियों से 21 दिनों तक घरों में कैद रहने की अपील की थी। उनका कहना था कि यदि इन 21 दिनों में हम घरों में कैद रहेंगे तभी हम कोरोना वायरस के खिलाफ जंग जीतने में कामयाब हो सकेंगे।

यह भी पढ़ें...लॉकडाउन: SBI ने ग्राहकों को दिया खास तोहफा, EMI पर आई बड़ी खबर

लॉकडाउन की घोषणा को सबसे ज्यादा लोगों ने देखा

टीवी रेटिंग एजेंसी ब्रॉडकास्टिंग ऑडियंस रिसर्च काउंसिल्स (बार्क) के मुताबिक मोदी के लॉकडाउन वाले संबोधन को उनके जनता कर्फ्यू और नोटबंदी समेत पिछले सभी संबोधनों से ज्यादा देखा गया। काफी संख्या में लोग मोदी का संबोधन सुनने के लिए अपने-अपने घरों में टीवी से चिपके हुए थे।

टूट गया आईपीएल फाइनल का भी रिकॉर्ड

प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर के मुताबिक बार्क इंडिया की ओर से साझा किए गए डाटा के अनुसार 24 मार्च को लॉकडाउन वाले पीएम मोदी के भाषण को टीवी पर सबसे ज्यादा देखा गया। इस संबोधन को इतने ज्यादा लोगों ने देखा कि आईपीएल फाइनल देखने वालों की संख्या का रिकॉर्ड भी टूट गया‌।

यह भी पढ़ें...लॉकडाउन: देशभर में NEET और JEE की परीक्षाएं टलीं, जानें अब कब होंगे ये EXAM

201 से अधिक चैनलों पर हुआ प्रसारण

मोदी के इस महत्वपूर्ण संबोधन को 201 से अधिक चैनलों पर दिखाया गया। शशि शेखर के मुताबिक आईपीएल के फाइनल मैच को 13.3 करोड़ लोगों ने देखा था जबकि उस दिन मोदी के संबोधन को सुनने वालों की संख्या 19.7 करोड़ थी। बार्क के मुताबिक प्रधानमंत्री के 19 मार्च के संबोधन का प्रसारण 191 टीवी चैनलों पर किया गया था और इसे करीब 8:30 करोड़ लोगों ने देखा था। अपने इसी संबोधन में पीएम मोदी ने जनता कर्फ्यू लगाने की घोषणा की थी।

यह भी पढ़ें...भारतीय वैज्ञानिकों को मिली सफलता! कोरोना से लड़ने वाली 70 दवाओं की हुई पहचान

नोटबंदी से भी आगे निकल गया यह संबोधन

बार्क की रेटिंग के मुताबिक पिछले साल 8 अगस्त को जब मोदी ने संविधान के अनुच्छेद 370 के प्रावधान को खत्म करने संबंधी संबोधन दिया था तो उसे 163 चैनलों पर प्रसारित किया गया था और इसे करीब 6.30 करोड़ लोगों ने देखा था। 2016 में 8 नवंबर को जब पीएम मोदी ने देश में नोटबंदी करने की घोषणा की थी तो उसे 114 चैनलों पर प्रसारित किया गया था और इसे 5.7 करोड़ लोगों ने देखा था।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story