×

भारतीय अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत, पटरी पर लौटने की है क्षमता: PM मोदी

एक फरवरी को बजट पेश किया जाएगा। बजट से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सक्रिय हैं और लगातार तमाम बैठकें हो रही हैं। हर क्षेत्र के दिग्गज के साथ खुद पीएम मोदी बातचीत कर रहे हैं। गुरुवार को भी नीति आयोग में एक बड़ी बैठक हुई जो करीब 2 घंटे तक चली।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 9 Jan 2020 4:31 PM GMT

भारतीय अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत, पटरी पर लौटने की है क्षमता: PM मोदी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: एक फरवरी को बजट पेश किया जाएगा। बजट से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सक्रिय हैं और लगातार तमाम बैठकें हो रही हैं। हर क्षेत्र के दिग्गज के साथ खुद पीएम मोदी बातचीत कर रहे हैं। गुरुवार को भी नीति आयोग में एक बड़ी बैठक हुई जो करीब 2 घंटे तक चली। इस बैठक में पीएम मोदी के अलावा देश के 38 दिग्गज अर्थशास्त्री, इंडस्ट्रीज विशेषज्ञ और कैबिनेट मंत्री शामिल थे।

बैठक में पीएम मोदी ने मौजूद तमाम दिग्गजों से भारतीय अर्थव्यवस्था पर चर्चा की। उन्होंने खपत और मांग बढ़ाने के उपायों पर सुझाव मांगे। पीएम ने बैठक में मौजूद लोगों से कहा कि पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के लिए हमारी प्रतिबद्धता के पीछे अटूट विश्वास है।

प्रधानमंत्री मोदी इससे पहले विभिन्न क्षेत्रों के दिग्गजों के साथ अर्थव्यवस्था को प्रभावित करने वाले विभिन्न मुद्दों तथा आगामी बजट में उपयुक्त पॉलिसी लाने को लेकर लगभग 12 बैठकें कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें...JNU हिंसाः BJP नेता मुरली मनोहर जोशी बोले- वीसी को हटाए सरकार

बैठक में विभिन्न क्षेत्रों के विषयों पर अर्थशास्त्रियों, व्यापारिक नेताओं और विभिन्न क्षेत्रों के नीति विशेषज्ञों के साथ गहन विचार-विमर्श हुआ। विशेषज्ञों ने सरकार से कर्ज वृद्धि, निर्यात वृद्धि, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के संचालन, उपभोग और रोजगार बढ़ाने पर काम करने की सलाह दी। प्रधानमंत्री ने उन्हें भरोसा दिया कि वह उन सुझावों पर काम करेंगे, जिन्हें जल्द लागू किए जाने की जरूरत है।



पीएम मोदी ने 5 ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी पर चर्चा के दौरान कहा कि यह विचार उनके मन में अचानक नहीं आया है। उन्होंने कहा कि यह देश की ताकत की गहरी समझ पर आधारित है। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के उतार-चढ़ाव झेलने की ताकत अर्थव्यवस्था के बुनियादी कारकों की मजबूती और उसके फिर से पटरी पर लौटने की क्षमता को दर्शाती है।

एक आधिकारिक बयान के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमें साथ मिलकर काम करने और एक राष्ट्र की तरह सोचने की शुरुआत करनी चाहिए।

यह भी पढ़ें...नोबेल विजेता अभिजीत बनर्जी ने इंडिया में वेल्थ टैक्स को माना सही, दिया ये बयान..

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने ट्वीट कर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अर्थशास्त्रियों और उद्योग विशेषज्ञों के साथ आज नीति आयोग में चर्चा की। इसमें आर्थिक वृद्धि, स्टार्टअप और नवाचार से जुड़े कई मुद्दों पर विचार-विमर्श हुआ।'



यह भी पढ़ें...इन सात देशों पर अमेरिका ने लगाए हैं सख्त प्रतिबंध

इस उच्चस्तरीय बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के अलावा नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार, मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया। प्रधानमंत्री की आर्थिक सलाहकार परिषद के चेयरमैन विवेक देवरॉय भी बैठक में मौजूद रहे।

तो वहीं इस बैठक में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के अनुपस्थित रहने पर कांग्रेस ने मोदी सरकार पर तंज कसा है। इसके साथ ही कहा है कि एक सुझाव है, अगली बजट बैठक में वित्त मंत्री को न्योता देने पर विचार कीजिए।'

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story