Top

नीति आयोग की बैठक में बोले PM मोदी, किसानों को गाइड करने की जरूरत

पीएम मोदी ने कहा कि को-ऑपरेटिव फेडरलिज्म को और अधिक सार्थक बनाना और यही नहीं हमें प्रयत्न पूर्वक कम्पटेटिव को-ऑपरेटिव फेडरलिज्म को न सिर्फ राज्यों के बीच, बल्कि डिस्ट्रिक्ट लेवल तक ले जाना है ताकि विकास की स्पर्धा निरंतर चलती रहे।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 20 Feb 2021 6:30 AM GMT

नीति आयोग की बैठक में बोले PM मोदी, किसानों को गाइड करने की जरूरत
X
पीएम मोदी के फोटो हटाएंः चुनाव आयोग का बड़ा आदेश, दिया 72 घंटों का समय
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की शनिवार को बैठक हुई। इस बैठक की अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की। उन्होंने कहा कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की छठी बैठक को संबोधित किया। इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमने कोरोना के दौरान देखा है कि कैसे केंद्र और राज्य सरकारों ने राष्ट्र को सफल बनाने में एक साथ काम किया है।

पीएम मोदी ने कहा कि इससे विश्व स्तर पर देश की सकारात्मक छवि बनी है। कई राज्यों ने तेज गति से विकास का काम किया है। केंद्र-राज्य साथ मिलकर काम करें, विकास प्राइम एजेंडा होना चाहिए।

पीएम मोदी ने कहा कि को-ऑपरेटिव फेडरलिज्म को और अधिक सार्थक बनाना और यही नहीं हमें प्रयत्न पूर्वक कम्पटेटिव को-ऑपरेटिव फेडरलिज्म को न सिर्फ राज्यों के बीच, बल्कि डिस्ट्रिक्ट लेवल तक ले जाना है ताकि विकास की स्पर्धा निरंतर चलती रहे।

ये भी पढ़ें...लक्खा सिधाना का चैलेंज, जारी किया वीडियो, दिल्ली पुलिस महीनेभर से तलाश में



भारत की एक अच्छी छवि का निर्माण हुआ

उन्होंने कहा कि हमने कोरोना कालखंड में देखा है कि कैसे जब राज्य और केंद्र सरकार ने मिलकर काम किया, देश सफल हुआ। दुनिया में भी भारत की एक अच्छी छवि का निर्माण हुआ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि साल 2014 से, ग्रामीण और शहरी भारत में 2.4 करोड़ से अधिक घर बनाए गए हैं। एक और पहल चल रही है जिसमें भारत में छह राज्यों में आधुनिक तकनीक से मकान बनाए जा रहे हैंय कुछ महीनों में, इस मॉडल द्वारा नए मॉडल के साथ मजबूत घर बनाए जाएंगे।

ये भी पढ़ें...किसान हिंसा के 200 आरोपी, दिल्ली पुलिस को तलाश, जारी की सबकी तस्वीरें

पीएम मोदी ने कहा कि हम ये भी देख रहे हैं कि कैसे देश का प्राइवेट सेक्टर, देश की इस विकास यात्रा में और ज्यादा उत्साह से आगे आ रहा है। सरकार के नाते हमें इस उत्साह का, प्राइवेट सेक्टर की ऊर्जा का सम्मान भी करना है और उसे आत्मनिर्भर भारत अभियान में उतना ही अवसर भी देना है। आत्मनिर्भर भारत अभियान, एक ऐसे भारत का निर्माण का मार्ग है जो न केवल अपनी आवश्यकताओं के लिए बल्कि विश्व के लिए भी उत्पादन करे और ये उत्पादन विश्व श्रेष्ठता की कसौटी पर भी खरा उतरे।



ये भी पढ़ें...देश में सैकड़ों मौतेंः 24 घंटों मेंं सबसे ज्यादा मामले, डरा देंगे संक्रमण के ये आंकड़े

देश में मैन्यूफैक्चरिंग बढ़ाने का बेहतरीन अवसर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने विभिन्न सेक्टर्स के लिए PLI schemes शुरू की हैं। ये देश में मैन्यूफैक्चरिंग बढ़ाने का बेहतरीन अवसर है। राज्यों को भी इस स्कीम का पूरा लाभ लेते हुए अपने यहां ज्यादा से ज्यादा निवेश आकर्षित करना चाहिए। बीते वर्षों में कृषि से लेकर, पशुपालन और मत्स्यपालन तक एक holistic approach अपनाई गई है। इसका परिणाम है कि कोरोना के दौर में भी देश के कृषि निर्यात में काफी बढ़ोतरी हुई है।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story