‘मन की बात’ में बोले PM मोदी- हमारे पास भी हैं कई डेविड बैकहम

इस बार ‘गणतंत्र दिवस’ समारोह की वजह से आपसे ‘मन की बात’, उसके समय में परिवर्तन करना, उचित लगा | और इसीलिए, एक अलग समय तय करके आज आपसे ‘मन की बात…

Mann Ki Baat

Mann Ki Baat

. ‘मन की बात’ साझा करना, सीखना और एक साथ बढ़ना का एक अच्छा और सहज प्लेटफॉर्म बन गया है। हर महीने हजारों की संख्या में लोग, अपने . सुझाव, अपने प्रयास, अपने अनुभव शेयर करते हैं।

देश और समाज के लिए कुछ कर गुजरने की भावना, हर दिन, पहले से अधिक मजबूत होती जाती है।

दिन बदलते हैं, हफ्ते बदल जाते हैं, महीने भी बदलते हैं, साल बदल जाते हैं, लेकिन, भारत के लोगों का उत्साह और हम भी कुछ कम नहीं हैं, हम भी कुछ करके रहेंगे | ‘कर सकते हैं’…ये ‘कर सकते हैं’ का भाव, संकल्प बनता हुआ उभर रहा है।

इस बार ‘गणतंत्र दिवस’ समारोह की वजह से आपसे ‘मन की बात’, उसके समय में परिवर्तन करना, उचित लगा। और इसीलिए, एक अलग समय तय करके आज आपसे ‘मन की बात’ कर रहा

हम इक्कीसवीं सदी में हैं, जो ज्ञान-विज्ञान और लोकतंत्र का युग है। क्या आपने किसी ऐसी जगह के बारे में सुना है जहां हिंसा से जीवन बेहतर हुआ हो? हिंसा, किसी समस्या का समाधान नहीं करती।

वर्ष 2022 में हमारी आजादी के 75 साल पूरे होने वाले हैं और उस मौके पर हमें गगनयान मिशन के साथ एक भारतवासी को अंतरिक्ष में ले जाने के अपने संकल्प को सिद्ध करना है।

स्वच्छता के बाद जन भागीदारी की भावना एक और क्षेत्र में तेजी से बढ़ रही है और वह है जल संरक्षण। इसके लिए कई व्यापक और नवोन्मेषी प्रयास देश भर में चल रहे हैं। समाज के हर क्षेत्र के लोग इसमें भागीदारी कर रहे हैं।

भारतवासी एक कदम चलता है, तो देश 130 करोड़ कदम आगे बढ़ता है-पीएम मोदी

जब हर भारतवासी एक कदम चलता है तो हमारा भारतवर्ष 130 करोड़ कदम आगे बढ़ता है।

दिन बदलते हैं, हफ्ते बदल जाते हैं, महीने भी बदलते हैं, साल बदल जाते हैं, लेकिन भारत के लोगों का उत्साह कायम है कि , हम कुछ करके रहेंगे। हम कुछ कर के रहेंगे का भाव, संकल्प बनता हुआ उभर रहा है।

देशवासियों को यह जानकर बहुत प्रसन्ता होगी कि पूर्वोत्तर में अलगाववाद बहुत कम हुआ है और इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि इस क्षेत्र से जुड़े हर एक मुद्दे को शांति के साथ, ईमानदारी से चर्चा करके सुलझाया जा रहा है।

विश्व, भारत से जो अपेक्षा करता है, उन अपेक्षाओं को पूर्ण करने का सामर्थ्य, भारत प्राप्त करके रहेगा , इस विश्वास के साथ आइये- नए दशक की शुरुआत करते हैं और नए संकल्पों के साथ मां भारती के लिए जुट जाते हैं।

 

 

ये भी पढ़ें:Republic Day Live: जमीन पर T-90 भीष्म टैंक, आसमान में मिसाइल की नुमाइश

रेडियो ने दी जानकारी:

ऑल इंडिया रेडियो के आधिकारिक ट्विटर हैंडल के अनुसार, पीएम मोदी का 2020 में होने वाला पहला मन की बात कार्यक्रम 26 जनवरी को किया जाएगा। ट्वीट के जरिये ये जानकारी दी गयी कि पीएम मोदी का पहला संबोधन शाम 6 बजे होगा। ऐसा पहली बार होगा जब पीएम मोदी के कार्यक्रम के समय में बदलाव किया गया हो।

ये भी पढ़ें:गणतंत्र दिवस पर इन दो राज्यों का हुआ विलय, अब भारत में 8 केंद्र शासित प्रदेश

28 दिसंबर 2019 में हुआ था आखिरी ‘मन की बात’ कार्यक्रम:

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 28 दिसंबर को साल 2019 में आखिरी बार मन की बात कार्यक्रम किया था। मन की बात कार्यक्रम की शुरुआत उन्होंने युवाओं को बधाई देते हुए की थी।

भारत के युवा हर दिन कुछ नया करना चाहते हैं- पीएम मोदी

पीएम ने कहा था, ‘हमारी ये पीढ़ी बहुत हीं प्रतिभाशाली है। भारत के युवा हर दिन कुछ नया करना चाहते है। आज के युवा एक बेहतर सिस्टम पंसद करते हैं और अगर कोई सिस्टम सही से काम न करे तो वे बेचैन हो जाते हैं। मैं इसे अच्छा मानता हूं। नई पीढ़ी को अराजकता पसंद नहीं है। अव्यवस्था, अराजकता के प्रति उन्हें चिढ़ है. जातिवाद, परिवारवाद जैसी अव्यवस्था को वो पसंद नहीं करते हैं।

ये भी पढ़ें:गणतंत्र दिवस के मौके पर ब्लास्ट: यहां चार बम धमाकों से दहला राज्य, मचा हड़कंप