नए संसद भवन की नींव रखेंगे PM मोदी: इस दिन है भूमिपूजन, जानिए इसकी खासियत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दस दिसंबर को नए संसद भवन के लिए नींव रखेंगे और भूमिपूजन करेंगे। इसे पूरा करने में लगभग 21 महीनों का समय लगेगा। साल 2022 तक इस नए संसद भवन के पूरा होने की उम्मीद है।

नए संसद भवन की नींव रखेंगे PM मोदी: इस दिन है भूमिपूजन, जानिए इसकी खासियत (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) दस दिसंबर को नई दिल्ली में नए संसद भवन (New parliament building) के लिए नींव रखेंगे। इस बात की जानकारी लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने दी है। गौरतलब है कि लोकसभा अध्यक्ष ने शनिवार को ही पीएम मोदी से मुलाकात की। जिसके बाद ही शिलान्यास के तारीखों की जानकारी दी गई है। वहीं इस दौरान विपक्ष के कुछ नेताओं को भी आमंत्रित किया जाएगा।

दस दिसंबर को रखी जाएगी नए संसद भवन की नींव

रिपोर्ट्स के मुताबिक, दस दिसंबर को प्रधानमंत्री द्वारा नई दिल्ली में नए संसद भवन के लिए नींव रखी जाएगी और भूमिपूजन होगा। बता दें कि मौजूदा संसद भवन बेहद पुराना है और सीमित जगह के चलते छोटा पड़ने लगा है। इसलिए अब नए संसद भवन का निर्माण कराया जा रहा है, जिसकी जरूरत बीते कई सालों से महसूस की जा रही है। अब भारत को एक नया संसद भवन मिलने जा रहा है।

यह भी पढे़ं: वैक्सीन लेने के बाद भी कोरोना संक्रमित हुए अनिल विज, विशेषज्ञ ने बताई वजह

PARLIAMENT
(फोटो- सोशल मीडिया)

टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड को मिला कॉन्ट्रैक्ट

बता दें कि नए संसद भवन को बनाने का कॉन्ट्रैक्ट टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड (Tata Projects Limited) को मिला है। जिसे बनाने में करीब 850 करोड़ रुपये की लागत आएगी। यह संसद भवन को मौजूदा संसद भवन के नजदीक ही बनाया जाएगा। बताया जा रहा है कि इसे पूरा करने में लगभग 21 महीनों का समय लगेगा। साल 2022 तक इस नए संसद भवन के पूरा होने की उम्मीद है। इस परिसर में 1,350 सांसदों के बैठने के लिए अच्छी-खासी जगह होगी।

यह भी पढे़ं: सरकारी नौकरी के लिए नया नियम: सरकार ने रखी ये अनोखी शर्त, इस दिन से होगा लागू

सभी सांसदों के लिए होंगे अलग-अलग कार्यालय

जानकारी के मुताबिक, इस नए भवन में सभी सांसदों के लिए अलग-अलग कार्यालय होंगे, जो परलेस ऑफिस’ बनाने की दिशा में नवीनतम डिजिटल इंटरफेस से लैस होंगे। बता दें कि मौजूदा समय में मंत्री अलग- अलग जगह बैठते हैं और उनके आने जाने व बिल्डिंग के किराए में खर्च होता है। लेकिन नई इमारत में सभी मंत्री एक जगह बैठ सकेंगे और किराए में जाने वाले पैसे की बचत होगी।

यह भी पढे़ं: बैठक में सरकार से ये मांग करेंगे किसान, कहा- इससे कम पर नहीं होगी बात

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App