मोदी का बड़ा ऐलान: करोड़ों लोगों को मिला ये तोहफा, खुशी में डूबे लोग

देश के गरीबों की भलाई को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में गरीब कल्याण अन्न योजना के विस्तार को मंजूरी मिल गई है।

नई दिल्ली। देश के गरीबों की भलाई को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY – Garib Kalyan Anna Yojana) के विस्तार को मंजूरी मिल गई है। देश वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बारे जानकारी दी। वित्त मंत्री ने ट्वीट कर बताया कि गरीब कल्याण अन्न योजना को नवंबर 2020 तक बढ़ा दिया गया है। साथ ही ये भी बताया कि इससे 81.09 करोड़ गरीबों को फायदा मिलेगा।

साथ ही कैबिनेट बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए दी। उन्होंने बताया कि 5 महीने मुफ्त अनाज, प्रवासी मजदूरों को किराए पर घर, जनरल इंश्योरेंस कंपनियों में 12 हजार 750 करोड़ रुपये के निवेश को लेकर बैठक में फैसले लिए गए।

ये भी पढ़ें… भूकंप के भयानक झटके: थर्रायी धरती मचा हड़कंप, घरों से भागे लोग

81 करोड़ गरीबों में मुफ्त में राशन

जानकारी के लिए आपको बता दें कि महामारी के इस दौर में मोदी सरकार 81 करोड़ गरीबों में मुफ्त में राशन बांट रही है, जो प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत बांटा जा रहा है। इसकी घोषणा मार्च में की गई थी। तब इसकी अंतिम तारीख 30 जून तय की गई थी। लेकिन अब इसे बढ़ाकर नवंबर 2020 तक कर दिया गया है।

कैबिनेट बैठक में निकल कर आई बातों के बारे में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत बीते 3 महीने में 81 करोड़ लोगों को प्रति व्यक्ति हर महीने 5 किलो अनाज मुफ्त मिला है।

जो अनाज 2 रुपये और 3 रुपये में मिलता है वो मिलता रहा। लेकिन ये अनाज मुफ्त मिला है। इसका मतलब है कि पिछले 3 महीने में प्रति व्यक्ति को 15 किलो अनाज मिला।

साथ ही प्रकाश जावड़ेकर ने बताया कि पिछले दिनों पीएम मोदी ने इसे विस्तार करने की घोषणा की। आज मंत्रिमंडल ने उसको लागू किया है। जुलाई, अगस्त, सितंबर, अक्टूबर, नवंबर तक ये योजना लागू रहेगी, जिसमें एक व्यक्ति को 5 किलो मुफ्त अनाज मिलेगा।

8 महीने 81 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन

आगे उन्होंने कहा कि पहले तीन महीने में 1 करोड़ 20 लाख टन अनाज दिया गया और आने वाले 5 महीने में 2 करोड़ 3 लाख टन अनाज मुफ्त दिया जाएगा।

जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस योजना का खर्च 1 लाख 49 हजार करोड़ रुपये है। आजादी के बाद ऐसा पहली बार हो रहा है कि 8 महीने 81 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन मिल रहा है।

इसी सिलसिले में प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सरकार ने एक और योजना का विस्तार किया है। जो छोटे व्यवसाय हैं, जहां 100 से भी कम कर्मचारी हैं और उनमें से 90 प्रतिशत लोग 15 हजार से कम सैलरी वाले हैं, ऐसे कर्मचारियों का हर महीने 12 प्रतिशत पीएफ जाता है उसे सरकार ने भरा। 3 लाख 66 हजार उद्दोगों को इसका फायदा मिला।

1 लाख 8 हजार छोटे मकान

इसके अलावा एक अन्य फैसले के बारे में जानकारी देते हुए प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 107 शहरों में 1 लाख 8 हजार छोटे मकान बनकर तैयार हैं।

इन सभी मकानों को प्रवासी मजदूरों को किराए पर देने का सरकार ने फैसला लिया है। मजदूरों को किराए पर सस्ता मकान नहीं मिलता था, लेकिन अब सरकार ने उनके लिए ये फैसला लिया है।

मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सरकार के एक और फैसले के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि देश में तीन जनरल इंश्योरेंस कंपनियां हैं। सरकार इसमें 12 हजार 750 करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना

(PMGKAY – Garib Kalyan Anna Yojana)

इस योजना के चलते परिवार के हर सदस्य को 5 किलो गेहूं या चावल मुफ्त दिया जाता है। साथ ही एक किलो चने की दाल भी मुक्त मिलती है। इसे प्रति माह हर परिवार को दिया जाता है। हालांकि अब तक इसके तहत अप्रैल में 93% , मई में 91% और जून में 71% गरीब लाभार्थियों को अनाज दिया जा चुका है।

ये भी पढ़ें…अभी-अभी भागा विकास: होटल पर ताबड़तोड़ कार्यवाई, मिले ये बड़े सुराग

अनाज केंद्र सरकार से

इस योजना के लिए राज्यों ने अब तक 116 लाख मीट्रिक टन अनाज केंद्र सरकार से लिया है। इस अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली-छठ पूजा तक यानी नवंबर तक कर दिया गया है।

वहीं गरीब कल्याण अन्न योजना के इस विस्तार में सरकार 90 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च करेगी। अगर इसमें बीते 3 महीने का खर्च जोड़ दिया जाए तो यह करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपये हो जाता है।

बता दें, इस योजना के विस्तार के बाद राशनकार्ड धारक नवंबर तक 5 किलो गेहूं या चावल प्रति व्यक्ति मुफ्त में ले सकेगा। इसके साथ ही प्रति परिवार 1 किलो चना मुफ्त मिलेगा।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान काटेगा सिर: इमरान भी इनके आगे हुए मजबूर, मंदिर पर मचा बवाल

10 किलो अनाज

इसके अतिरिक्त राशन कार्ड धारक पहले से मिल रहे मौजूदा कोटे का प्रति व्यक्ति 5 किलो गेहूं या चावल पैसे देकर राशन दुकान से ले सकेगा। इस हिसाब से नवंबर 2020 तक महीने में प्रति व्यक्ति कुल 10 किलो अनाज लाभार्थी राशन दुकानों से ले सकेगा।

वहीं सरकार की तरफ से मार्च महीने में कहा गया था कि गेहूं की कीमत 27 रुपये किलो है, जो राशन दुकानों के माध्यम से दो रुपये किलो की रियायती दर पर मिलेगा। साथ ही चावल की लागत लगभग 37 रुपये किलो है, लेकिन राशन की दुकानों के माध्यम से इसे 3 रुपये किलो की दर से खरीदा जा सकता है।

ये भी पढ़ें…पाकिस्तान की गंदी चाल: कैद कुलभूषण पर फिर खेला दांव, इमरान करा रहे थू-थू

दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।