Top

आम आदमी को झटका: अब चाय का स्वाद होगा फीका, दूध के दामों में बढ़ोत्तरी

अब दूध के दाम भी बढ़ने की संभावनाएं तेजी से दिखाई दे रही हैं। अगर दूध के दाम भी बढ़ते हैं तो आम आदमी को फिर से जोरदार झटका लगने वाला है। इससे आमजन की जिंदगी पर बहुत घातक असर पड़ेगा।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 26 Feb 2021 9:32 AM GMT

आम आदमी को झटका: अब चाय का स्वाद होगा फीका, दूध के दामों में बढ़ोत्तरी
X
पूरे देश में एक तरफ पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से हाहाकार मचा हुआ है। ऐसे में अब दूध के दाम भी बढ़ने की संभावनाएं तेजी से दिखाई दे रही हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: पूरे देश में एक तरफ पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों से हाहाकार मचा हुआ है। ऐसे में अब दूध के दाम भी बढ़ने की संभावनाएं तेजी से दिखाई दे रही हैं। अगर दूध के दाम भी बढ़ते हैं तो आम आदमी को फिर से जोरदार झटका लगने वाला है। इससे आमजन की जिंदगी पर बहुत घातक असर पड़ेगा। इस दौरान दूध उत्पादकों ने मांग की है कि दूध के दाम 55 रुपये लीटर तक बढ़ा दिए जाएं क्योंकि महंगे पेट्रोल-डीजल की वजह से उनके आर्थिक हालात खराब हो गए हैं।

ये भी पढ़ें... यात्रीगण ध्यान दें, यहां रोडवेज के बाद अब सिटी बसों का भी बढ़ेगा किराया

1 मार्च से दूध के दाम

ऐसे में दूध को लेकर रतलाम के कुछ गांवों में उत्पादकों ने कीमतों में बढ़ोतरी का फैसला किया है। इस पर रतलाम मिल्क प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन के अनुसार, मंगलवार को 25 गांवों की एक बैठक हुई दूध के दाम बढ़ाए जाने पर सहमति बनी हैं। 1 मार्च से दूध के दाम बढ़ जाएंगे।

Milk फोटो-सोशल मीडिया

आपको बता दें कि दूध उत्पादकों ने बीते साल भी दूध के दाम बढ़ाने की मांग की थी, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से दूध के दाम नहीं बढ़ाए गए थे। और यही वजह है कि दूध उत्पादकों को आज भी उतने रुपये में दूध बेचना पड़ रहा है जितने में वो 2 साल पहले बेचते थे।

ये भी पढ़ें...आत्मनिर्भर भारत छोटे-छोटे शहरों के, गांवों के लोगों के परिश्रम से बनेगा: पीएम मोदी

बड़ी परेशानी

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के रतलाम जिले में दूध 43 रुपये प्रति लीटर मिल रहा है। वहीं अब इसकी कीमत 12 रुपये बढ़ाकर 55 रुपये प्रति लीटर कर दी जाएगी।

ऐसे में देश के कई शहरों में इस समय पेट्रोल के दाम 100 रुपए तक पहुंच गया है। इस पर दूध उत्पादकों का कहना है कि पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों के कारण दूध के ट्रांसपोर्टेशन का खर्च बढ़ गया है।

साथ ही पशुओं के लिए चारा भी महंगा हो गया है। इस वजह से पशुपालन में दिक्कतें आ रही हैं। ऐसे में यदि दूध की कीमतें नहीं बढ़ाई गईं तो वे लोग हड़ताल कर देंगे और दूध की सप्लाई रोक देंगे। इससे बड़ी परेशानी खड़ी होती दिखाई दे रही है।

ये भी पढ़ें...यूपी पुलिस अलर्टः सोशल मीडिया पर वायरल मास्क चेकिंग अभियान, जानें सच्चाई

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Desk Editor

Next Story