तैयारियां शुरू: LAC पर कभी भी छिड़ सकता है युद्ध, तैनात हुई बोफोर्स आर्टिलरी

कई दिनों से भारत और चीन में तनाव चल रहा है। बॉर्डर पर बन रहे हालातों को देखते हुए भारतीय सेना भी हर तरह से तैयार है। हालांकि इस मामले को सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच बातचीत चल रही है।

नई दिल्ली: कई दिनों से भारत और चीन में तनाव चल रहा है। बॉर्डर पर बन रहे हालातों को देखते हुए भारतीय सेना भी हर तरह से तैयार है। बॉर्डर पर 24 घंटोें सैनिकों की तगड़ी मुश्तैदी लगी रहती है। हालांकि इस मामले को सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच बातचीत चल रही है। लेकिन उसके बाद भी भारत किसी भी तरह की कोई ढील नहीं छोड़ना चाहता है, जिससे कोई भी खामियाजा भुगतना पड़े। ऐसे में इन सभी स्थितियों से निपटने के लिए भारत तैयार है। इन्ही के चलते लद्दाख के पास लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के पास भारत ने हवाई पट्टी के निर्माण को और तेज कर दिया है। इसके साथ ही बोफोर्स आर्टिलरी की तैनाती भी हो रही है।

ये भी पढ़ें… PM मोदी लेंगे अपने संसदीय क्षेत्र का हालचाल, विकास कार्यों पर करेंगे बात

60 बोफोर्स आर्टिलरी गन

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल के नजदीक यानी अनंतनाग के पास NH-44 पर इमरजेंसी हवाई पट्टी का निर्माण किया जा रहा है। जिससे किसी भी इमरजेंसी के समय लड़ाकू विमानों या अन्य विमानों को उतारा जा सके।

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के पास चीन ने भी कई तरह का निर्माण कर लिया है और साथ ही कई तरह के हथियारों की सप्लाई भी बढ़ा दी है। वहीं दूसरी तरफ भारत ने लगभग 60 बोफोर्स आर्टिलरी गन को लद्दाख के पास फॉरवर्ड पॉजिशन पर भेजा जा रहा है।

ये भी पढ़ें…कांग्रेस ने सहायक शिक्षकों की भर्ती कोर्ट में अटकने पर यूपी सरकार को घेरा

स्थिति से निपटने के लिए

इसके साथ ही भारतीय सेना की तरफ से ये भी कहा गया है कि वह चीन के साथ ताजा विवाद को सुलझाना चाहते हैं, लेकिन किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए भी तैयार हैं।

भारतीय वायुसेना के द्वारा दक्षिण कश्मीर में बिज्बेहरा इलाके के पास NH-44 पर हवाई पट्टी बनाई जा रही है, जिसकी लंबाई लगभग 3 किमी. है। चीन के बीच चल रहे तनाव के कारण दो दिन पहले ही इस पट्टी का निर्माण शुरू हुआ है, जो युद्ध स्तर पर चल रहा है।

ये भी पढ़ें…राशिफल 4 जून: चंद्र ग्रहण से एक दिन इन राशियों को रहना होगा सावधान

बातचीत से पहले अच्छे संकेत

हालांकि कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते अभी लॉकडाउन जारी है, लेकिन इस निर्माण से जुड़ी सभी अनुमतियों को जिला प्रशासन ने तुरंत जारी कर दिया। क्योंकि स्थितियों को देखते हुए अब इंतेजार करने का समय नहीं है।

वैसे पिछले एक महीने से चल रही तनातनी के बाद अच्छी खबर ये है कि चीनी सेना दो किमी. तक बॉर्डर पर पीछे हटी है, ये 6 जून को होने वाली एक और बातचीत से पहले अच्छे संकेत दिखाई दे रहे हैं।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से लद्दाख में सड़क निर्माण रुक गया था, लेकिन अब भारत ने इस निर्माण को फिर से शुरू कर दिया है, और इस पर तेजी से काम चल रहा है।

ये भी पढ़ें…UP में मजदूरों को मिलेगा रोजगार ही रोजगार, सरकार की है ये बड़ी तैयारी

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App