श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में हुई मौतों पर रेलवे का बड़ा बयान, यात्रियों को दी ये सलाह

लॉकडाउन के चलते दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए रेलवे एक मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। वहीं इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से यात्रा करने के दौरान मात्र 48 घंटे के अंदर नौ यात्रियों की मौत हो गई है।

नई दिल्ली: लॉकडाउन के चलते दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए रेलवे एक मई से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। वहीं इन श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से यात्रा करने के दौरान मात्र 48 घंटे के अंदर नौ यात्रियों की मौत हो गई है। ऐसे में रेलवे का बयान सामने आया है कि जो लोग पहले से किसी स्वास्थ्य संबंधी समस्या से जूझ रहे हैं तो वो रेलवे से यात्रा ना करें।

यह भी पढ़ें: मायावती ने सरकार पर साधा निशाना, मजदूरों पर कही ये बड़ी बात

अगर पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त हैं तो ना करें यात्रा

श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में नौ मौतें होने के बाद भारतीय रेलवे ने शुक्रवार को लोगों से अपील की है कि यदि वे पहले से किसी बीमारी से ग्रस्त हैं या उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है तो ट्रेन से यात्रा न करें। 27 मई को 48 घंटे के अंदर श्रमिक ट्रेन में कम से कम नौ यात्रियों की मौत हो गई। रेलवे का कहना है कि इन सभी का स्वास्थ्य ठीक नहीं था।

सभी किसी ना किसी समस्या से जूझ रहे थे

में रेल मंत्रालय ने कहा कि यह देखा गया है कि कुछ लोग जो इस सेवा का लाभ उठा रहे हैं, वे पहले से ही किसी तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्या से पीड़ित हैं। यह कोरोना वायरस महामारी के दौरान उनके सामने आने वाले जोखिम को और ज्यादा बढ़ा देती है। यात्रा के दौरान कुछ लोगों की मौत हो गई, उनका स्वास्थ्य पहले से ही खराब थी।

यह भी पढ़ें: साध्वी प्रज्ञा लापता: भाजपा में मची अफरा-तफरी, जगह-जगह लगे पोस्टर

COVID- 19 से कमजोर व्यक्तियों को बचाने की अपील

रेलवे मंत्रालय ने COVID- 19 से कमजोर व्यक्तियों को बचाने के लिए अपील की है। मंत्रालय ने कहा कि रेलवे अपील करता है कि सह-रुग्णता वाले व्यक्ति, गर्भवती महिलाएं, 10 वर्ष से कम आयु के बच्चे और 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति गृह मंत्रालय के दिशा-निर्देशों अनुसार जब तक जरूरत ना हो रेल से यात्रा करने से बच सकते हैं।

रेलवे आपकी हमेशा मदद करेगा

मंत्रालय का कहना है कि रेलवे का परिवार 24 घंटे और सातों दिन काम कर रहा है ताकि यात्रा करने वाले हर यात्री को रेल की सुविधा प्रदान की जा सके। हम इस मामले में सभी यात्रियों की मदद करना चाहते हैं। मंत्रालय ने कहा कि किसी भी संकट की या इमरजेंसी की परिस्थिति में रेलवे परिवार तक पहुंचने में कोई संकोच ना करें। हम आपकी हमेशा की तरह मदद करेंगे।

यह भी पढ़ें: दुर्घटनाग्रस्त विमान मलबे से मिली तीन करोड़ की नकद राशि, जांच में जुटी पुलिस

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।