×

चिदंबरम के बाद राज ठाकरे: अब इन पर ED का वार, बढ़ी इनकी मुश्किलें

कांग्रेस के वरिष्ट नेता पी चिदंबरम के बाद अब महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे की मुश्किलें बढ़ती नज़र आ रही है। आपको बता दें कि कोहिनूर इमारत मामले में ईडी ने राज ठाकरे को पूछताछ के लिए मुंबई दफ्तर बुलाया है। वहीँ राज ठाकरे के साथ उनके बेटे अमित ठाकरे और बेटी उर्वशी भी ईडी दफ्तर पहुंचे हैं।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 22 Aug 2019 6:42 AM GMT

चिदंबरम के बाद राज ठाकरे: अब इन पर ED का वार, बढ़ी इनकी मुश्किलें
X
राज ठाकरे
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मुंबई: कांग्रेस के वरिष्ट नेता पी चिदंबरम के बाद अब महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे की मुश्किलें बढ़ती नज़र आ रही है। आपको बता दें कि कोहिनूर इमारत मामले में ईडी ने राज ठाकरे को पूछताछ के लिए मुंबई दफ्तर बुलाया है। वहीँ राज ठाकरे के साथ उनके बेटे अमित ठाकरे और बेटी उर्वशी भी ईडी दफ्तर पहुंचे हैं।

ये भी देखें:आज फ्रांस के लिए रवाना होंगे पीएम मोदी, यूएई और बहरीन की भी करेंगे यात्रा

ईडी कुछ समय बाद ठाकरे से पूछताछ करेगी। इससे पहले महाराष्ट्र पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी थी। मुंबई पुलिस ने गुरुवार को एमएनएस के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेने के साथ ही चार थाना क्षेत्रों में एहतियातन धारा 144 लगा दी थी।

एमएनएस के नेता पहुंचे राज ठाकरे के आवास पर

एमएनएस के नेताओं के राज ठाकरे के आवास पहुंचने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। एमएनएस नेता बाला नंदगांवकर राज ठाकरे के आवास पहुंच गए हैं। एमएनएस नेता संदीप देशपांडे को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। नेता संदीप देशपांडे ने दावा किया कि उन्हें कार्रवाई के बारे में सूचना नहीं दी गई थी। उधर राज ठाकरे को सम्मन दिए जाने से क्षुब्ध पार्टी के एक युवा कार्यकर्ता ने खुद को आग लगाकर आत्महत्या कर ली। राज ठाकरे ने अपने सभी समर्थकों और कार्यकर्ताओं से व्यक्तिगत अपील की थी और कहा था कि वह हर कीमत पर शांत रहें।

ये भी देखें:पी चिदंबरम को गिरफ्तार करने का नहीं है कोई सबूत- कांग्रेस

सम्मन का सम्मान करेंगे एमएनएस के अध्यक्ष राज ठाकरे

एमएनएस के अध्यक्ष राज ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि वह प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के भेजे गए सम्मन का सम्मान करेंगे। इस मुद्दे पर अपनी पहली प्रतिक्रिया में ठाकरे ने सभी एमएनएस कार्यकर्ताओं को संबोधित करने वाले हस्ताक्षरित बयान में कहा कि मार्च-2006 में पार्टी की स्थापना के बाद से उनके और कार्यकर्ताओं के खिलाफ अनगिनत मामले दर्ज किए गए हैं।

नोटिस मिलने के बाद राज ठाकरे के चचेरे भाई और सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे उनके समर्थन में उतर आए। ईडी ने एक मामले की जांच के सिलसिले में राज ठाकरे को सम्मन जारी करते हुए गुरुवार को पेश होने को कहा है। उद्धव ठाकरे ने अपने आवास पर मीडियाकर्मियों से यह कहते हुए अपना टेढ़ा समर्थन जाहिर किया कि ईडी की ओर से राज ठाकरे से पूछताछ में कुछ भी नहीं निकलेगा। उद्धव ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि ईडी की राज ठाकरे से कल की जाने वाली पूछताछ से कोई नतीजा निकलेगा।"

ये भी देखें:10 हजार कर्मचारियों को पारले जी ने दिखाया बाहर का रास्ता

ईडी ने ठाकरे और उनके पूर्व कारोबारी सहयोगी रहे पूर्व लोकसभा अध्यक्ष और सत्तारूढ़ सहयोगी शिवसेना नेता मनोहर जोशी के बेटे उन्मेश जोशी के साथ ही एक अन्य कारोबारी सहयोगी को नोटिस जारी किया था। इसके बाद राजनीतिक हलकों में खलबली मच गई थी। गौरतलब है कि ईडी ने ठाकरे को आईएलएंडएफएस से संबंधित एक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में 22 अगस्त गुरुवार को अपने कार्यालय में पेश होने को कहा है।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story