×

आज राज्यों से बात करेंगे कैबिनेट सचिव, लॉकडाउन-5 के स्वरूप पर होगी चर्चा

लॉकडाउन के संभावित पांचवें चरण को लेकर मंथन भी अब शुरू हो गया है। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा आज सभी राज्यों के मुख्य सचिव और स्वास्थ्य सचिव के साथ बैठक करेंगे।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 28 May 2020 5:34 AM GMT

आज राज्यों से बात करेंगे कैबिनेट सचिव, लॉकडाउन-5 के स्वरूप पर होगी चर्चा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: भारत में कोरोना का संकट बरकरार है। कोरोना के मरीजों का आंकड़ा डेढ़ लाख की संख्या को पार कर गया है। मरीजों के मिलने का सिलसिला अभी भी बदस्तूर जारी है।

इसे देखते हुए लॉकडाउन के संभावित पांचवें चरण को लेकर मंथन भी अब शुरू हो गया है। कैबिनेट सचिव राजीव गौबा आज सभी राज्यों के मुख्य सचिव और स्वास्थ्य सचिव के साथ बैठक करेंगे।

इस मीटिंग में पहली बार प्रभावित महानगरों के नगर निगम कमिश्नर भी शामिल होंगे। बताया जा रहा है कि यह बैठक सुबह 11.30 बजे से शुरू होगी।

लॉकडाउन के उल्लंघन में फंसे पूर्व सीएम, भव्य स्वागत के बाद उठी यह मांग

कैसे होगा लॉकडाउन -5 का स्वरूप

लॉकडाउन -4 के बचे हैं 3 दिन। इसके बाद लॉकडाउन-5 लागू होगा। लॉकडाउन 5 का खाका अभी से तैयार भी होना शुरू हो गया है। 5वें चरण में क्या कुछ रियायतें मिलने वाली हैं और क्या कुछ पाबंदियां रहने वाली है। इसको लेकर अभी से तरह-तरह के सवाल भी उठने लगे हैं।

सरकारी सूत्रों के मुताबिक, लॉकडाउन 5.0 के बारे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही मन की बात कर सकते हैं। लॉकडाउन के पांचवें चरण में कोरोना प्रभावित 11 शहरों को छोड़कर बाकी देश में छूट का दायरा बढ़ाया जा सकता है।

लॉकडाउन में हुई सबसे ज्यादा पुलिस कार्रवाई: हजारों गिरफ्तार, करोड़ो रुपये वसूले

इन 11 शहरों पर फोकस्ड होगा 5 वां चरण

अभी तक जो जानकारी निकलकर सामने आ पाई है उसके मुताबिक इस बार का लॉकडाउन 11 शहरों पर फोकस्ड होगा, जिसमें जयपुर, सूरत, दिल्ली, मुंबई, बेंगलुरु, पुणे, ठाणे, इंदौर, चेन्नई, अहमदाबाद, और कोलकाता सम्मिलित हैं।

इन शहरों में देश के कुल कोरोना केस का 70 फीसदी से अधिक केस है। 5 शहरों (अहमदाबाद, दिल्ली, पुणे, कोलकाता, मुंबई) में तो कुल केस के 60 फीसदी मरीजों की पुष्टि हो चुकी है।

5 वें चरण में गृह मंत्रालय की तरफ से धार्मिक स्थलों को खोलने की परमिशन दी जा सकती है, लेकिन नियम और शर्तें लागू रहेंगी। धार्मिक स्थल पर कोई भी मेला या महोत्सव मनाने की सख्त मनाही होगी। साथ ही अधिक संख्या में लोग इकट्ठा नहीं होंगे। मास्कर पहनना और सोशल डिस्टेंसिंग कम्पलसरी होगा।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक शादी और अंतिम संस्कार में कुछ और लोगों को शामिल होने की छूट दी जा सकती है।

इतना ही नहीं लॉकडाउन का पांचवा चरण 14 दिनों के लिए लागू किया जा सकता है।

इस दौरान सभी जोन में सैलून और जिम को खोलने की परमिशन दी जा सकती है, सिर्फ कंटेनमेंट जोन छोड़कर. हालांकि, इस चरण में किसी स्कूल, कॉलेज-यूनिवर्सिटी को खोलने की सख्त मनाही होगी। इसके साथ ही माल और मल्टीप्लैक्स को भी पूर्व की भांति ही खोलने की अनुमति नहीं होगी।

किसानों पर टूटा गमों का पहाड़, लॉकडाउन के बाद अब फसलों को इन्होंने किया बर्बाद

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story