राजनाथ सिंह का सेना को तोहफा: रखी नए आर्मी भवन की नींव, इस वजह से है ख़ास

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को सेना के नए भवन की स्थापना के लिए भूमि पूजन किया। यहां पूजा पाठ के बाद भवन की नींव रखी गयी।

Published by Shivani Awasthi Published: February 21, 2020 | 4:19 pm
Modified: February 21, 2020 | 5:14 pm

Rajnath Singh lays foundation stone of Thal Sena Bhawan in Delhi

दिल्ली: रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को सेना के नए भवन की स्थापना के लिए भूमि पूजन किया। यहां पूजा पाठ के बाद भवन की नींव रखी गयी। इस मौके पर राजनाथ सिंह ने कहा,  ‘आज जिस पत्थर को हमने रखा है, वह उन जवानों का भी प्रतिनिधित्व करेगा जो कि इतिहास की गुमनामियों में खो गये। नए सेना भवन का यह पहला पत्थर एक प्रेरणा के श्रोत के रूप में हम सबके लिए काम करेगा।’

सेना के नए भवन का हुआ भूमि पूजन:

राजधानी दिल्ली में सेना के नये भवन का भूमि पूजन हुआ। भवन की नींव रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने रखी। बता दें कि ये नया भवन भारतीय सेना का मुख्यालय बनेगा। 7.5 लाख वर्ग मीटर में बनने वाले इस भवन से सारे सैन्य एक्शन पर नजर रखी जा सकेगी। कहा जा रहा है कि ये भवन पांच साल में बनकर तैयार हो जाएगा।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान के ये मुस्लिम: जिन्होंने भारत में बनाई ऐसी पहचान, जान रह जाएंगे दंग

राजनाथ सिंह का सेना को तोहफा: रखी नए भवन की नींव, इस वजह से है ख़ास

राजनाथ सिंह का सेना को तोहफा: रखी नए भवन की नींव, इस वजह से है ख़ास#RajnathSingh #RajnathSinghSpeech #DefenceMinister

Newstrack ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶುಕ್ರವಾರ, ಫೆಬ್ರವರಿ 21, 2020

धर्मगुरुओं ने किया सेना भवन मुख्यालय का शिलान्यास:

बता दें कि शिवरात्रि के मौके पर सेना भवन मुख्यालय का शिलान्यास किये जाने के दौरान रक्षा मंत्री के साथ ही सभी धर्मों के धर्मगुरू मौजूद हैं। वहीं सभी ने अपने अपने तरीके से भवन शिलान्यास कराया।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बताया:

इस मौके पर शहीद और भुला दिए गये सैनिकों को राजनाथ सिंह ने यह भवन समर्पित करते हुए  कहा कि ये सेना भवन इतिहास में गुम हो गए सैनिकों का प्रतिनिधित्व करेगा। उत्साहवर्धन करते हुए रक्षामन्त्री ने कहा कि हमारे अदर बड़ी चुनौतियों की सामना करने की ताकत है। वहीं भारत को दुनिया के ताकतवर देशों में एक बताया। उन्होंने भारतीय सेना की ताकत का श्रेय बहादुर जवानों को दिया।

ये भी पढ़ें: पाकिस्तान की खटिया खड़ी: भारत ने किया ऐसा हमला, थरथर कांपी सेना

नई सेना भवन की खासियत:

बता दें कि थल सेना कई सालों से बड़े मुख्यालय की मांग कर रहा थी। दरअसल, मोदी सरकार ने नए सेंट्रल-विस्टा प्लान के तहत साउथ ब्लॉक को म्यूजियम में तब्दील किया जाना है। इसी की वजह से साउथ ब्लॉक स्थित (थल) सेना प्रमुख और दूसरे अहम डायरेक्ट्रेट्स को खाली करने का फैसला लिया गया।

ऐसे में सेना के नये मुख्यालय की आवश्यकता महसूस किये जाने पर भवन बनाने की तैयारी की गयी है। यह भवन 7.5 लाख वर्ग मीटर में बनकर तैयार होगा। जिसमें  6014 ऑफिस बनाये जायेंगे। वहीं 16 सौ से ज्यादा सैन्य और असैनिक अधिकारी वहां बैठेंगे। वहीं 4330 उप-कर्मचारियों के होंगे।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।