राज्यसभा में कृषि विधेयकों पर हंगामा, राजनाथ सिंह बोले- जो हुआ वो शर्मनाक था

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य सभा में कृषि विधेयक पर जो कुछ हुआ उसे दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक बताया। उन्होंने कहा कि कृषि के ये दोनों विधेयक किसानों के लिए ऐतिहासिक हैं।

Rajnath Singh slams Opposition said Ruckus in Raj Sabha over farm bills Sad shameful

कृषि अध्यादेशों पर बोले रक्षा मंत्री (Photo Social media)

नई दिल्ली । रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने राज्य सभा में कृषि विधेयक पर जो कुछ हुआ उसे दुर्भाग्यपूर्ण और शर्मनाक बताया। संसदीय परंपराओं में विश्वास रखने वाला कोई भी व्यक्ति आज इस प्रकार की घटना से आहत होगा। उन्होंने कहा कि विपक्ष नाहक किसानों को गुमराह कर रहा है। संसद की कार्यवाही चलाने के लिए जहां तक सत्ता पक्ष की आवश्यकता होती है वहीं पर विपक्ष का भी सहयोग अपेक्षित है। लेकिन किसानों में गलतफहमी पैदा करके केवल निहित राजनीतिक स्वार्थ को साधने की जो कोशिश की जा रही है, वह स्वस्थ्य लोकतांत्रिक परंपराओं के अनुकूल नहीं है।

कृषि अध्यादेशों के समर्थन पर बोले रक्षा मंत्री

उन्होंने कहा कि कृषि के ये दोनों विधेयक किसान और कृषि इन दोनों के लिए ऐतिहासिक हैं। इसे लागू करने से स्वाभाविक रूप से किसानों की आमदनी बढ़ेगी। लेकिन किसानों के बीच गलतफहमी पैदा की जा रही है।

Rajnath Singh slams Opposition said Ruckus in Raj Sabha over farm bills Sad shameful

राजनाथ सिंह ने स्पष्ट की अध्यादेश पर गलतफहमी

उन्होंने कहा कि इन दोनों बिल से न तो APMC समाप्त हो रही है और न ही MSP समाप्त हो रही है। इससे पहले भी हमारी सरकार ने बराबर MSP बढ़ाया है। और जो वादा किया था कि किसानों की आमदनी को दोगुना करेंगे इस लक्ष्य को भी पाने में काफी हद तक कामयाब हुए हैंं।

ये भी पढ़ेंः महिलाओं को मिलेगा पैसा! मोदी सरकार भेजेगी बैंक खाते में एक लाख, जानें सच्चाई

रक्षा मंत्री ने कहा कि राज्यसभा के डेप्युटी चेयरमैन हरिवंशजी के साथ दुर्व्यवहार हुआ है, इसे पूरे देश ने देखा है। वे मूल्यों के प्रति विश्वास रखने वाले व्यक्ति हैं ।संसदीय परंपराओं में विश्वास रखने वाला कोई भी व्यक्ति आज इस प्रकार की घटना से आहत होगा।

ये भी पढ़ेंः 2000 के नोट बंद! अब कभी नहीं होगी छपाई, सरकार ने कही ये बात…

विपक्ष के सदस्य उनके (राज्यसभा के डेप्युटी चेयरमैन) आसन पर चढ़ गए और रूल्स बुक को भी फाड़ दिया। मेरी जानकारी में संसदीय इतिहास कभी ऐसी घटना ना ही लोकसभा, ना ही राज्यसभा में हुई है।  जो भी हुआ है, वह संसद की गरिमा के अनुसार नहीं हुआ है। कुछ सांसदों के द्वारा उपसभापति के साथ जैसा आचरण किया गया, उसकी जितनी भी निंदा की जाए कम है।

उपसभापति और हरसिमरत कौर पर बोले राजनाथ

राज्यसभा के उपसभापति के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर बोले राजनाथ सिंह, ‘इसपर जो भी फैसला लेना होगा, वह चेयरमैन लेंगे। इस मामले पर राजनीतिक टिप्पणी ठीक नहीं।’ हरसिमरत कौर बादल के मंत्रिमंडल से इस्तीफे पर बोले राजनाथ, ‘सबको समझाने की कोशिश की जा रही है। कई फैसलों के राजनीतिक कारण भी होते हैं।’

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App