Top

राणा कपूर को जेल में कोरोना का डर, कई साल से हैं दमा से पीड़ित

मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को भी कोरोना वायरस का डर सता रहा है। राणा कपूर के वकील ने दी दलील

Aradhya Tripathi

Aradhya TripathiBy Aradhya Tripathi

Published on 20 March 2020 3:27 PM GMT

राणा कपूर को जेल में कोरोना का डर, कई साल से हैं दमा से पीड़ित
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मनी लॉन्ड्रिंग केस में गिरफ्तार यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर को भी कोरोना वायरस का डर सता रहा है। राणा कपूर के वकील ने शुक्रवार को अदालत में यह दलील दी। राणा कपूर को इस महीने की शुरुआत में ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत गिरफ्तार किया था। इस बीच सीबीआई ने एक अन्य मामले में राणा कपूर को पेश करने के वारंट की मांग की थी।

कई साल से दमे से पीड़ित

ईडी ने यस बैंक के संस्थापक कपूर को शुक्रवार को अदालत के समक्ष पेश किया। जज ने राणा कपूर से पूछा कि क्या आपको कोई बीमारी है, तो उन्होंने कहा कि वह पिछले 6-7 साल से दमे से पीड़ित हैं। इसके अलावा उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी काफी कम हो गई है और अवसाद में भी है। राणा कपूर के वकील अबाद पोंडा ने कहा कि जिस व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो, उसे कोरोना वायरस आसानी से अपनी चपेट में ले सकता है।

ये भी पढ़ें- कोरोना को लेकर अलर्ट पीएम मोदी, सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की वीडियो कांफ्रेंसिंग

2 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत

राणा के वकील ने दलील दी कि यह वायरस बहुत ही तेजी से फैल रहा है। अभी स्थिति काफी संदिग्ध हो चुकी है। अगर वह जेल जाते हैं तो वह बहुत ही ज्यादा गंभीर वायरस की चपेट में आ सकते हैं। अदालत ने जेल प्रशासन से राणा कपूर की उचित देखभाल करने और दवा मुहैया कराने को कहा है। ईडी ने राणा कपूर की हिरासत बढ़ाने की मांग नहीं की। इसलिए जज परशुराम जाधव ने उन्हें 2 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

ये भी पढ़ें- संजय मिश्रा को आइसोलेट करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम

हैं दो-दो मुकदमें

ईडी ने इस महीने की शुरुआत में यस बैंक पर आरबीआई की तरफ से लगाई गई पाबंदियों के बाद कपूर व अन्य के खिलाफ मनी लान्ड्रिंग जांच शुरू की थी। इस मामले में ईडी ने मुकदमा दर्ज करते हुए राणा कपूर के खिलाफ एक आपराधिक मामले की जांच शुरू की थी।

ये भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश: लखनऊ में ताज होटल को अस्थाई रूप से बंद करने का आदेश

जिसमें कपूर पर अपने परिवार के नियंत्रण वाली कंपनियों के जरिये कुछ बड़ी कॉरपोरेट कंपनियों को अपने बैंक की तरफ से दिए गए बुरे कर्जों (एनपीए) की वसूली प्रक्रिया धीमी करने के बदले लाभ लेने का आरोप है। अब यह मनी लान्ड्रिंग मामले में ईडी की तरफ से कपूर के खिलाफ दूसरा मुकदमा है।

Aradhya Tripathi

Aradhya Tripathi

Next Story