RBI का अभी-अभी ऐलान: ग्राहकों को मिला दीवाली गिफ्ट, जाने पूरी डिटेल

आरबीआई ने दीपावली में लोगों का बड़ा तोहफा दिया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने ब्याज दरों में कटौती करके लोगों को ये गिफ्ट दिया है। इसमें रेपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट मतलब की 4% तक की कटौती की गई है।

rbi

rbi

नई दिल्ली : आरबीआई ने दीपावली में लोगों का बड़ा तोहफा दिया है। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने ब्याज दरों में कटौती करके लोगों को ये गिफ्ट दिया है। इसमें रेपो रेट में 25 बेसिस पॉइंट मतलब की 4% तक की कटौती की गई है। बता दें कि रेपो रेट घटने के बाद बैंक भी ब्याज दरे घटाएंगे और लोगों के होम लोन, ऑटो लोन की भी ईएमआई कम हो जाएगी।

यह भी देखें… अब यहां मगरमच्छ: जिसने भी देखा वो दंग रह गया, सब पर मंडराया खतरा

इसी के साथ हम आपको बता दें कि इस साल अभी तक ब्याज दर में 1.35% तक की कटौती हो चुकी है। रेपो रेट घटकर अब 5.15% रह गई है। और ये कयास लगाए जा रहें हैं कि बैंक अपने ग्राहकों को दीपावली से पहले ही ये गिफ्ट दे सकती है।

फाइनेंस ईयर का लेखा-जोखा

बता दें कि इसके पहले भारतीय रिजर्व बैंक ने अगस्त में मौद्रिक नीति समीक्षा की थी, जिसमें ब्याज दरों में 4% तक कटौती की गई थी। इस बीच आर्थ‍िक परिस्थ‍ितियों में बहुत ज्यादा बदलाव भी आया है।

PMC Bank

इस फाइनेंस ईयर पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ को कमकर 5% रह गई है, जिस पर रिजर्व बैंक ने गवर्नर शक्तिकांत दास ने भी हैरानी जाहिर की थी। इसके बाद केंद्र सरकार ने कॉरपोरेट टैक्स में कटौती कर दी थी। जिससे सरकार के खजाने में 1.45 लाख करोड़ रुपये की कमी होने का अनुमान है। इसके साथ ही पीएमसी बैंक (पंजाब ऐंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक) के संकट से फाइनेंस की अयथार्थता बढ़ गई।

यह भी देखें… तेजस हुई रवाना, सीएम ने दिखाई हरी झंडी, यहां जानें खासियत

इस फाइनेंस ईयर की पहली तिमाही में जीडीपी ग्रोथ घटकर 5% रह गई है और पूरे फाइनेंस ईयर 2019-20 में जीडीपी ग्रोथ सिर्फ 6.8% रही है। रिजर्व बैंक ने पहली तिमाही में 5.8 % ग्रोथ होने का अनुमान लगाया था, लेकिन यह पूरी तरह से गलत साबित हुआ।

ये होता है रेपो रेट

जानकारी के लिए बता दें कि रेपो रेट वह दर होती है जिस पर बैंक से लोन लेते हैं मतलब की यह बैंकों के लिए फंड की लागत होती है। यह लागत घटने पर बैंक अपने लोन की ब्याज दर भी कम करते हैं। इस साल जनवरी से अभी तक भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में 1.35% तक कटौती कर चुका है। भारतीय रिजर्व बैंक की 6 सदस्यीय मौद्रिक नीति कमिटी (एमपीसी) डिसीजन लेती है।

यह भी देखें… सावधान सभी देश! आया तबाही का ये खतरनाक हथियार, बहुत बुरा होने वाला है