2019-20 की पहली तिमाही में रिलायंस इंडस्ट्रीज का शुद्ध मुनाफा 10,104 करोड़ रुपए

रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के तिमाही नतीजे शुक्रवार को घोषित हुए। पहली तिमाही में कंपनी को 10,104 करोड़ रु का हुआ शुद्ध मुनाफ़ा हुआ है।

मुंबई: रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड के तिमाही नतीजे शुक्रवार को घोषित हुए। पहली तिमाही में कंपनी को 10,104 करोड़ रुपए का शुद्ध मुनाफ़ा हुआ है।

Q1 (FY 2019-20) नतीजों के मुख्य बिंदु-

-वित्त वर्ष 2019 -20 की पहली तिमाही का शुद्ध लाभ 6.6% बढ़कर (Y-O-Y) ₹10,104 करोड़ ($ 1.5 बिलियन) रहा।

-वित्त वर्ष 2019 -20 की पहली तिमाही का कंसोलिडेटिड राजस्व 22.1% बढ़कर (Y-O-Y) ₹ 172,956 करोड़ के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा।

-वित्त वर्ष 2019 -20 की पहली तिमाही का स्टैंडअलोन शुद्ध लाभ 2.4% बढ़कर (Y-O-Y) ₹ 9,036 करोड़ की रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचा।

-खुदरा और डिजिटल सेवा बिजनेस का EBITDA ने रिकॉर्ड स्तर को छुआ।

यह भी पढ़ें…कर्नाटक: राज्यपाल का आदेश, 6 बजे तक साबित करें बहुमत, कांग्रेस-कुमारस्वामी पहुंचे SC

-रिलायंस जियो का 2019-20 की पहली तिमाही का EBITDA 4,686 करोड़ रहा जो पिछले साल के मुकाबले 49% ज़्यादा है। EBITDAमार्जिन 40% रहा।

-2019-20 की पहली तिमाही में रिलायंस जियो का शुद्ध मुनाफ़ा 891 करोड़ रहा जो पिछले साल के मुकाबले 45.6% ज़्यादा है।

-रिलायंस जियो के ग्राहक लगातार बढ़ रहे हैं। 2019-20 की पहली तिमाही में जियो ने 3 करोड़ 38 लाख ग्राहक जोड़े।

-रिलायंस जियो के नेटवर्क पर प्रति माह प्रति ग्राहक डेटा की खपत बढ़कर 11.4 GB हो गई है। वोल्टी वॉइस कॉलिंग प्रति ग्राहक 821 मिनिट प्रति माह रही, ARPU ₹122 रहा।

-रिलायंस रिटेल ने राजस्व में 48% (Y-O-Y) की शानदार बढ़त दर्ज की। पहली तिमाही का राजस्व 38,186 करोड़ रू रहा। वहीं रिटेल का EBITDA 70% (Y-O-Y) बढ़कर 2,049 करोड़ रू रहा।

यह भी पढ़ें…दहेज की भेंट चढ़ी एक और विवाहिता, ससुरालजनों पर लगा हत्या का आरोप

-रिलायंस रिटेल, सेगमेंट के दूसरे खिलाड़ियों की तुलना में तेजी से बढ़ रहा है। 6,700+ कस्बों और शहरों में रिलायंस रिटेल के 10,644 स्टोर हैं। जो 23 मिलियन वर्ग फुट से अधिक क्षेत्र में फैले हैं।

-पहली तिमाही के दौरान रिलायंस रिटेल के रजिस्टर्ड ग्राहकों की संख्या 100 मिलियन का आकंड़ा पार कर गई और वहीं इस तिमाही में रिलायंस रिटेल स्टोर्स पर 150 मिलियन ग्राहक आए

-रिफाइनिंग EBITDA ₹ 5,152 करोड़ रहा, पहली तिमाही में GRM $8.1/bbl रहा, सिंगापुर काम्पलेक्स मार्जिन पर $ 4.6/bbl का प्रीमियम रहा

-वित्त वर्ष की पहली तिमाही में पेट्रोकेमिकल EBITDA ₹8,810 करोड़ रहा। प्लान्ड टर्नअराउंड में 5.4% की मामूली कमी देखी गई।

यह भी पढ़ें…शिमला: केंद्र सरकार ने क्यों दी बंदरों को मारने की अनुमति?

-रिलायंस ने ब्रुकफ़ील्ड के साथ करार किया है जिसके बाद टावर इंफ्रास्ट्रक्चर ट्रस्ट में ₹ 25,215 का निवेश होगा। ये भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर में अब तक का सबसे बड़ा विदेशी निवेश है।

-इंफ्रास्ट्रक्चर की दुनिया में सबसे बड़े नामों में से एक ब्रुकफ़ील्ड ने रिलायंस के साथ करार कर रिलायंस जियो के विश्व स्तरीय काम पर मुहर लगाई है।

-इस तिमाही में डिजिटल और इंफ्रास्ट्रक्चर व्यवसायों की पूंजी संरचना के ऑप्टिमाइजेशन के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए गए।